Spirulina in Hindi | spirulina Farming | स्पिरुलिना के ट्रेनिंग सेंटर | Spirulina Farming in Hindi | Spirulina | spirulina growing | Spirulina in Hindi | spirulina Farming

  • दुनियाभर में काई कि 1000 से ज्यादा प्रजातियां मौजूद है। काई सिर्फ एक ही प्रजाति ऐसी है जो खाई जाती है।
  • इसका नाम है स्पिरुलिना यह पोष्टिक गुणों से भरपूर है।
  • प्राचीन काल से ओषधि आहार के रूप में लोग इस्तेमाल करते हैं।
  • 1 किलो स्पिरुलिना में 1000 किलो फलों और सब्जियों के बराबर पोषण होता है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे सुपर फूड की श्रेणी में रखा है।
  • सरकार ने विकासशील देशों में कुपोषण को खत्म करने के लिए बच्चों को स्पिरुलिना खिलाने को लोगो को बोला है।

गर्भावस्था के आठवें महीने में देखभाल

और पढ़ें:– 7th Month Pregnancy Care in Hindi

स्पिरुलिना की खेती कैसे करते हैं

  • इसकी खेती टैंक बना कर की जाती है।

टैंक केसे बनाए

  • स्पिरुलिना की खेती कच्चे और पक्के दोनों तरह के टैंक में कर सकते हैं।
  • कच्चे टैंक में पॉलीथिन बिछाए। टैंक आकार अपने हिसाब से रख सकते हैं लेकिन चौड़ाई से दोगुनी लंबाई होनी चाहिए।
  • अगर चौड़ाई अधिक होगी तो स्पिरुलिना को निकालने में परेशानी होती है।
  • टैंक की गहराई 1.5 से 2 फीट रखे। टैंक में आठ इंच तक खारा पानी भरे।
spirulina Farming
  • स्पिरुलिना की खेती 15 डिग्री से ऊपर तापमान की जाती है। इसमें सूर्य की किरण पड़ना जरूरी है।
  • इसकी खेती खारे पानी यानी हाई पीएच में की जाती है।
  • स्पिरुलिना की खेती समुन्द्र के पास करने में आसानी होती है।
  • समुन्द्र का पानी खारा होता है। जो लोग समुन्द्र के पास नहीं रहते और स्पिरुलिना लगाना चाहते हैं।
  • वो साधारण पानी को टैंक में भरकर पानी में npk, नमक, खाने का सोडा और मैग्नीशियम सल्फेट मिलाए जिससे पानी समुन्द्र के जैसा खारा हो जाता है।
  • पानी में स्पिरुलिना के बीज मिला दे। मदर कल्चर को टैंक के पानी में घुमाते हुए चारो तरफ मिलते जाए।
  • पानी में ऑक्सिजन और धूप अंदर तक जानी चाहिए।
  • इसके लिए पानी के वाइपर घुमाए या टरबाइन लगाए जो पानी को घुमाते रहते हैं।
  • टरबाइन को हर एक डेड घंटे बाद 10-15 मिनट के लिए चलाए।
  • जब स्पिरुलिना के पौधे पानी पर तैरते है तो इन्हे एक बाल्टी में इकठ्ठा कर ले।
  • आटा छानने वाली छननी में से डालते हुए कपड़े मे से छान लें।
  • दो बार साफ पानी से धोकर बंद और छायादार स्थान पर सूखा ले।
  • आटा छानने वाली छननी में से इसीलिए छानते है जिससे कोई बाहर का कचरा स्पिरुलिना में नहीं जाए।
  • टैंक में कोई कचरा नहीं जाने दे।

और पढ़ें:– 4th Month of Pregnancy in Hindi

और पढ़ें:–5 Month Pregnancy in Hindi

स्पिरुलिना की खेती सीखने के ट्रेनिंग सेंटर

  • स्पिरुलिना की खेती करने से पहले आप इसकी ट्रेनिंग जरूर लें।
  • इसका कोर्स 8-10 दिन का कर सकते हैं।
  • स्पिरुलिना की ट्रेनिंग Micro, small & medium Enterprises से ले सकते हैं।
  • Tamil Nadu Fisheries University madhavarm Chennai,
  • Madurai spirulina production reserch and Training Center Tamil Nadu से आप इसकी ट्रेनिंग ले सकते हैं।
  • जो लोग पहले से इसकी खेती करते हैं उनसे इसकी ट्रेनिंग ले सकते हैं।

स्पिरुलिना की खेती करने में सावधानियां

  • स्पिरुलिना की खेती खुले में भी की जाती है। खुले मिट्टी धूल नहीं गिरे इसलिए टैंक को ढक कर रखें।
  • बारिश के दौरान बारिश का पानी टैंक में आने से पानी में नमक की मात्र कम हो जाती है।
  • नमक की मात्रा बढ़ाने के लिए खाने का सोड़ा या नमक आदि मिलाए।
  • टैंक बनाते समय टैंक की लंबाई पूर्व से पश्चिम की और रखे जिससे पूरी धूप पानी पर पड़े

आपको Spirulina in Hindi | spirulina Farming यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और
Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Show 1 Comment

1 Comment

  1. ashik

    This article is very essential for me. Thank you very much for serving such kind of article.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *