अमित उपाध्याय कहते हैं 

मैं अमित उपाध्याय हूँ, मैं इंदौर में रहने वाला हूँ। आज से तीन महीने पहले मैं इन्गुइनल हर्निया से परेशान था। मेरे जांघ और पेट के निचले हिस्से के बीच की जगह में एक उभार महसूस हो रहा था और छूने पर अंदर चला जाता था। जब मैं बच्चा था तब मेरे साथ एक बार ऐसे ही हुआ था और मैं खुद ही ठीक हो गया था, इसलिए मैंने इसे चोट के कारण होने वाली मामूली गिल्टी समझी और इस पर कोई ध्यान नहीं दिया।

लेकिन धीरे-धीरे मेरा दर्द तेज हो रहा था और मैं चल नहीं पा रहा था। मुझे बिल्कुल भी पता नहीं था कि हर्निया नाम की भी कोई बीमारी होती है और इसलिए मैं इसे अभी भी आम समझ रहा था। लेकिन जब मुझे बहुत तेज दर्द होने लगा तो मैंने google पर अपने लक्षण सर्च किए, तब मुझे पता चला कि मैं इन्गुइनल हर्निया से पीड़ित हूँ।

मैं तकरीबन 15 दिनों तक दर्द सहता रहा और पेन किलर खाता रहा। जब मुझे पता चला कि मैं इगुइनल हर्निया से पीड़ित हूँ तो मुझे एक शॉक जैसे लगा और मैं सोचा कि इतने दिनों से मैं दर्द झेल रहा हूँ, कहीं कुछ गड़बड़ हो गया होगा तो क्या करूँगा।

मैंने इसके बारे में बहुत सी चीजें google में सर्च की और मुझे Pristyn Care का नंबर मिला, मैंने Care फोन किया और अपने लक्षणों को बताया। उनकी टीम से अनुराग  ने मुझे शांत रहने को कहा और डॉक्टर के साथ अपॉइंटमेंट बुक करवाने की सलाह दी।

मैंने Pristyn Care के बारे में पहले भी सुना था, इनके ad को टीवी पर देखा था, मुझे इन पर विश्वास था  इसलिए मैंने अपॉइंटमेंट बुक करवा दिया। फिर भी, मैं अभी भी परेशान था।

4 फरवरी 2020 को मेरा Dr. Ashish Vora  के साथ अपॉइंटमेंट फिक्स हो गया।

जांच के लिए मैं सुबह 10 बजे मैं क्लीनिक में गया। डॉक्टर ने मुझसे लक्षणों के बारे में पूछा और हर्निया वाले जगह में ऊँगली से दबाकर मेरी ऊपरी जाँच की। डॉक्टर को 99 प्रतिशत हर्निया की पुष्टि हो गयी थी, लेकिन उन्होंने 100% पुष्टि के लिए मेरे पेट के निचले हिस्से और जाँघ के बीच का अल्ट्रासाउंड और कोई एक टेस्ट और किया।

टेस्ट के बाद जो परिणाम आया उसे देखकर मैं खुद को कोस रहा था मेरा हर्निया बहुत फ़ैल चुका था, डॉक्टर ने कहा कि अगर मैं और देरी करता तो शायद आंत में खून का दौड़ान रुक सकता था। जाँच करवाने के बाद मैं घर चला गया।

शाम को मुझे रिपोर्ट मिली और पता चला चला कि मेरा हर्निया बहुत अधिक फैल गया है, डॉक्टर ने मुझे लेप्रोस्कोपिक सर्जरी से हर्निया का इलाज कराने की सलाह दी। मैंने पूछा कि लेप्रोस्कोपिक सर्जरी के अलावा भी कोई अच्छी सर्जरी है जिससे हर्निया का उपचार किया जा सके, तो उन्होंने कहा कि हर्निया का उपचार करने के लिए ओपन सर्जरी और लेप्रोस्कोपिक सर्जरी सिर्फ दो ही प्रक्रियाएं हैं और लेप्रोस्कोपिक सर्जरी ज्यादा अच्छी होती है, क्योंकि उसमें आधा इंच से भी छोटे कट से उपचार हो जाता है, जबकि ओपन सर्जरी में पेट के निचले हिस्से में बड़ा चीरा लगाया जाता है।

मैं सोच में पड़ गया, और अपनी रिपोर्ट को अपने पापा को दिखाया। पापा ने भी कहा कि मैं सर्जरी करवा लूं।

मैंने Pristyn Care को सर्जरी के लिए हाँ कह दिया, लेकिन मैं परेशान था कि सर्जरी कैसे होगी और क्या सर्जरी के समय मुझे परेशानियां होगी। तरह-तरह के सवाल मेरे दिमाग में उठ रहे थे।

6 तारीख को हॉस्पिटल में मेरी सर्जरी होनी थी, सुबह 11 बजे Pristyn Care की एक कैब आई और मुझे अस्पताल में ले गई। साथ में एक केयर बडी भी आया था।  कैब में बैठे-बैठे मैं ये सोच रहा था कि मेरी सर्जरी कैसे होगी और कितना दर्द होगा।

बहरहाल मैं अस्पताल में पहुँच गया और वहां Pristyn Care ने पहले से ही मेरी सर्जरी के सारे इंतजाम कर रखे थे। मेरी दिमाग से कुछ बोझ हल्का हुआ, लेकिन फिर भी मैं यही सोच रहा था कि क्या मुझे बहुत दर्द होगा।

सर्जरी के लिए मुझे ओटी रूम में ले जाया गया और Dr. Ashish Vora  ने मुझे एक इंजेक्शन दिया और पता नहीं कब मेरी सर्जरी शुरू हो गई, दो घंटे बाद मुझे होश आया तो पता चला कि मेरी सर्जरी हो चुकी है और मुझे कोई बड़ा कट नहीं आया था, पेट में आधा इंच से भी छोटे-छोटे तीन कट आए थे। सर्जरी के 18 घंटे बाद मुझे घर जाने की इजाजत मिल गयी, मैं चल पा रहा था।

मुझे यकीन ही नहीं था कि वाकई में हर्निया की लेप्रोस्कोपिक सर्जरी इतनी अच्छी होगी। एक सप्ताह में पूरी तरह से रिकवर हो गया और मैं अपने सभी साधारण काम कर पा रहा था। मेरे जख्म सूख गए थे और मैं आसानी से नहा दो पा रहा था।

20 दिन बाद डॉक्टर ने दोबारा मुझे क्लीनिक में बुलाया और मुफ्त में मेरी जांच की। मैं पूरी तरह से स्वस्थ था।

सर्जरी वाले दिन Pristyn Care ने खाने और सोने का पूरा प्रबंध किया था, इसके साथ मुझे एक डाइट चार्ट दी गयी थी जिसमें सर्जरी के बाद मुझे क्या खाना-पीना है सब कुछ लिखा था।

मैं पूरी टीम का शुक्रिया करता हूँ, जिन्होंने मेरी सर्जरी को आसान बना दिया। मेरे पास बजाज हेल्थ इंश्योरेंस था, इसलिए उपचार में एक रूपए भी नहीं लगे, इंश्योरेंस क्लेम करवाने के लिए मुझे कहीं नहीं जाना पड़ा, Pristyn Care की इंश्योरेंस टीम ने मेरे इंश्योरेंस को बहुत जल्दी  लगभग 20 मिनट में करवा दिया।

अब मेरी सर्जरी को 3 महीने हो चुके हैं, वजन उठाने के अलावा मैं सभी काम कर लेता हूँ।

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *