Mulethi ke fayde in hindi | Liquorice root health benefits | मुलहठी के फ़ायदे | Mulethi ke fayde | मुलहठी | licorice powder benefits | Liquorice root health benefits

  • भारतीय संस्कृति शक्तिशाली बारहमासी जड़ी बूटियों का खजाना है,
  • आयुर्वेद में लंबे समय से अपने स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए मुलेठी जैसी जड़ी-बूटियां का उपयोग किया जाता हैं।
  • मुलेठी यूरोप और एशिया के कई क्षेत्रों में पाई जाती है और
  • इसका उपयोग विभिन्न व्यंजनों में प्राकृतिक रूप से मीठे स्वाद के लिए भी किया जाता है।
  • एंटीसेप्टिक, एंटी-डायबिटिक से लेकर एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है।

और पढ़ें:–  कलौंजी के फायदे

मुलहठी के चमत्कारी फ़ायदे ( Mulethi ke fayde in hindi )

1. कफ को कम करे

  • खासी, जुकाम में कफ को कम करने के लिए मुलहठी का ज्यादातर उपयोग किया जाता है।
  • बढ़े हुए कफ से गला, नाक, छाती में जलन हो जाने जैसी अनुभूति होती है, तब मुलहठी को शहद में मिलाकर चटाने से बहुत फायदा होता है।
  • बड़े लोग मुलहठी के चूर्ण का इस्तेमाल कर सकते हैं. शिशुओं के लिए मुलहठी के जड़ को पत्थर पर पानी के साथ 6-7 बार घिसकर शहद या दूध में मिलाकर दिया जा सकता है।
  • यह स्वाद में मीठा होने के कारण प्रायः सभी बच्चे बिना झिझक के इसे चाट लेते हैं।

2. बुद्धि को तेज करे

  • मुलहठी बुद्धि को भी तेज करती है। अतः छोटे बच्चों के लिए इसका उपयोग नियमित रूप से कर सकते हैं।

3. पाचन में फायदेमंद है

  • यह हल्की रेचक होती है। अतः पाचन के विकारों में इसके चूर्ण को इस्तेमाल किया जाता है।
  • विशेषतः छोटे बच्चों को जब कब्ज होती हैं, तब इसका उपयोग किया जा सकता है।

और पढ़ें: स्कीन के लिए हल्दी के फायदे

4. छोटे बच्चों के पेट में गैस बनने पर

  • छोटे शिशु कई बार शाम को रोते हैं क्योंकि पेट में गैस के कारण उन्हें शाम के वक्त पेट में दर्द होता है,
  • उस समय मुलहठी को पत्थर पर घिसकर पानी या दूध के साथ पिलाने से पेट दर्द सही हो जाता है।

5. मुलहठी की मधुरता से पित्त का नाश होता है

  • मुलहठी की मधुरता से पित्त का नाश होता है।
  • आमाशय की बढ़ी हुई अम्लता एवं अम्लपित्त जैसी व्याधियों में मुलहठी काफी उपयुक्त सिद्ध होती है।
  • आमाशय के अंदर हुए व्रण (अलसर) को मिटाने के लिए एवं पित्तवृद्धि को शांत करने के लिए मुलहठी का उपयोग होता है।
  • मुलहठी को मिलाकर पकाए गए घी का प्रयोग करने से अलसर मिटता है।

6. कफ को आसानी से निकालता है

  • यह कफ को आसानी से निकालता है।
  • अतः खांसी, दमा, टीबी एवं स्वरभेद (आवाज बदल जाना) आदि फेफड़ों की बीमारियों में बहुत ही लाभदायक होता है।
  • कफ के निकल जाने से इन रोगों के साथ बुखार भी कम हो जाता है।
  • इसके लिए मुलहठी का एक छोटा टुकड़ा मुंह में रखकर चबाने से भी फायदा होता है।

7. पेशाब की जलन होने पर

  • पेशाब की जलन मुलहठी के सेवन से कम होती है और पेशाब की रुकावट भी दूर होती है।

और पढ़ें: बड़ी इलायची के फायदे

8. जख्मों को जल्दी भरे

  • मुलहठी शरीर के भीतरी एवं बाहरी जख्मों को जल्दी भरता है, अतः जहां पर जख्म से रक्तस्राव होता है, उस पर मुलहठी का उपयोग फायदेमंद होता है।
  • त्वचा के जख्म में जलन और पीड़ा हो रही हो तो जौ के आटे में मुलहठी और तिल का चूर्ण तथा घी मिलाकर पेस्ट जैसा बना लें. इसे जख्म पर लेप करने से घाव शीघ्र ही भर जाता हैं.

9. रक्तस्राव बंद हो जाता है

  • केवल मुलहठी के चूर्ण के सेवन से ही होनेवाला रक्तस्राव, वह चाहे जिस वजह से हो, बंद हो जाता है।
  • जख्मों पर भी मुलहठी का लेप करें। इससे रक्तस्राव रुक जाता है और जख्म ठीक हो जाता है।
  • रक्तस्राव होने पर मुलहठी आधा ग्राम, काली मिट्टी एक ग्राम और शंखभस्म 250 मि.ग्राम एक साथ मिलाकर शहद और चावल के धोने के साथ दिन में चार बार सेवन करने से लाभ होता है।

10. त्वचा रोगी के लिए

  • त्वचा रोगों में भी मुलहठी लाभकारी है। चेहरे के मुंहासों को दूर करने के लिए मुलहठी का लेप बनाकर इस्तेमाल किया जाता है। इससे त्वचा का रंग निखर आता है, त्वचा की जलन और सूजन दूर होती है।

11. यौवन को बनाए रखने के लिए

  • यौवन को बनाए रखने के लिए इसका भीतरी एवं बाहरी प्रयोग काफी लाभदायी होता है।

12. खांसी से छुटकारा मिले

  • मुलहठी 1/2 ग्राम, पिपलामूल 1/2 गा्रम में गुड़, शहद और घी को स्वाद के अनुसार मिलाकर 3-4 बार सेवन करने से खांसी से राहत मिलती है।

13. आंखों की जलन दूर करे

  • आंखों की जलन दूर करने के लिए मुलहठी और पद्माख को जल के साथ घिसकर आंखों के ऊपर लेप करें।

और पढ़ें: गर्भवती महलाओं के लिए कैल्शियम

14. बाल मजबूत और काले होते है

  • मुलहठी, काला तिल, आंवला और पद्मकेशर के चूर्ण में शहद मिलाकर उसका बालो पर लेप करने से बाल मजबूत और काले होते है।

आपको Mulethi ke fayde in hindi | Liquorice root health benefits | बड़ी इलायची के फायदे यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और
Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *