19.8 C
New York
Saturday, October 23, 2021

Buy now

29 पुदीने के फायदे | Mint Leave

पुदीना के बहुत गजब के लाभ है फिर चाहे इसका उपयोग चटनी में या आम पन्ना , रायता या पुलाव हर किसी से साथ मिलकर यह खाने के स्वाद और सेहत दोनो को अच्छा रखता है। पुदीने सभी जगह आसानी से मिल जाता है ज्यादातर लोग इसको चटनी बनाकर और किसी जूस में मिलाकर उपयोग करते है। इसकी तासीर ठंडी होती है इसको वात से होने वाली बीमारियों में उपयोग किया जाता है और कफ की प्रॉब्लम में भी इसका उपयोग कर सकते है । यह विटामिन सी का सबसे अच्छा स्रोत है। यह गर्मियों की रामबाण औषधि है।

पुदीने के गुण | Mint Leave

  1. पुदीने में ऐसे लवण होते हैं जो शरीर को चुस्त और फुर्तीला रखते हैं।
  2. यह हमारे शरीर को हानिकारक जीवाणुओं से बचाता है।
  3. गर्मियों में पुदीने का शरबत हमे लू से भी बचाता है।
  4. पुदीने की पत्तियों को पीसकर घाव और चोट पर लगाने से फायदा होता हैं।
  5. रात में पुदीने की 2 से 4 पत्तियां चबाकर पानी पिए पेट के कीड़ों को खत्म करने में फायदा मिलेगा।
  6. पुदीना, लहसुन, नमक और अदरक की चटनी पीसकर भोजन के साथ खाए भूख अच्छी लगेगी और पाचन भी अच्छा होगा।
  7. पुदीना, काला नमक और काली मिर्च का काढ़ा बनाकर पीने से खांसी, जुकाम और बुखार में फायदा मिलेगा।
  8. पुदीने की 1 से 2 पत्तियां चबाकर खाने या पुदीने का रस पीने से हिचकियां आनी बंद हो जाती हैं।
  9. सलाद के रूप में पुदीने की पत्ती का उपयोग करने से हड्डियां मजबूत और कोलेस्ट्रॉल कम होता है।
  10. प्रसव में पुदीने का रस पिलाने से प्रसव आसानी से हो जाता है।
  11. घर के चारो ओर पुदीने के तेल का छिड़काव करे तो मक्खी मच्छर नही रहते हैं।
  12. अगर आप शरीर की सफाई की सोच रहे ही लीवर और किडनी की सफाई करना चाहते है तो इसे अपनी डाइट में सामिल की खासकर जिस दिन व्रत करते है उस दिन पानी में पुदीना और नींबू का सेवन करने से शरीर की अच्छी सफाई होगी।
  13. पुदीने के पत्तो मसलकर किसी बेहोस व्यक्ति को सुंघाने से उसको होश आ जाता है।
  14. हैजा होने पर पुदीने के रस, प्याज का रस, नींबू का रस बराबर मात्रा में मिलाकर पीने से फायदा होता हैं।

पुदीने {Mint Leave} का उपयोग कैसे कर सकते है

  1. इसकी पत्तियों की चटनी रोजाना 1 से 2 चम्मच तक कर सकते है ।
  2. इसकी पत्तियों {Mint Leave} को सुखाकर पाउडर बनाकर लगभग आधा चम्मच से 1 चम्मच तक सुबह और शाम को उपयोग कर सकते है।
  3. दस्त और पेचिस और शरीर में पानी की कमी होने पर इसका उपयोग चटनी में रूप में और इसकी पत्तियों को एक कप पानी में एक चम्मच इसकी चटनी डालकर उसे अच्छे से पकाए जब इसका पानी उबल कर आधा कप रह जाए उसमे स्वादानुसार देसी खांड या सेंधा नमक दोनो में से एक चीज मिलाकर इसको दिन में 2 से 3 बार उपयोग करने के से दस्त और पेचिस बिल्कुल ठीक हो जाते है।
  4. जिन लोगो को पेशाब जलन के साथ या बार बार आता है वो लोग पुदीने की चटनी को एक गिलास पानी में और आधा नींबू का रस और स्वादानुसार उसमे सेंधा नमक डालकर पिए।
  5. कई बार आपने देखा होगा कुछ लोगो के मुंह से बदबू आती है तो ऐसे लोग 4 से 5 पत्ती मुंह में रखकर चबाए । जयादातर लोग के मुंह से बदबू पेट की खराबी या पायरिया के कारण आती है तो यह दोनो ही परेशानी को खत्म करता हैं। जो लोग इसको चबा नही सकते हैं वो एक गिलास पानी में 8 से 10 पत्तियां डालकर पका लें और फिर थोड़ा ठंडा करके कुल्ला करे ।
  6. जिन लोगो को पिंपल,दाने, झाइयां, झुईया,खुजली होती है तो वो लोग पुदीने के पत्ती की चटनी बनाकर उसको कपड़े मे डालकर उसका रस निकाल ले और साथ में एलोवीरा का रस मिलाकर प्रॉब्लम वाली जगह पर आधा घंटा लगाकर छोड़ दे आधे घंटे बाद हल्के गुनगुने पानी से धो दें तो आपकी ये सभी बीमारियों में बहुत लाभ मिलेगा।
  7. जिन लोगो का शरीर वात प्रकृति का है और उनको गलत खानपान की वजह से थकावट, दर्द रहता है वो लोग पुदीने की पत्ती का काढ़ा पिए जिससे बहुत लाभ मिलेगा।
  8. काढ़ा – पुदीने की सूखी पत्तियां लेकर एक कप पानी में उबाल लें और जब पानी उबालकर आधा रह जाए तो उसको थोड़ा ठंडा करके स्वादानुसार देसी खांड या धागे वाली मिश्री का पाउडर या सेंधा नमक तीनो में से एक चीज मिलाकर सुबह शाम खाना खाने के बाद उपयोग करे।
  9. कफ वाले शरीर में गलत खानपान से कफ बड़ जाता है जिससे गले में खरास, छाती में बलगम, शरीर के जोड़ो में ढीलापन, कमजोरी महसूस होना ऐसे लोग पुदीने की पत्ती को पीसकर पेस्ट बना लें उस एक चम्मच पेस्ट को एक कप पानी में उबालें जब पानी उबालकर आधा रह जाए तो उसे ठंडा कर ले उसमे देसी खांड या शहद दोनो में से कोई एक स्वादानुसार मिलाकर भोजन के आधे घंटे बाद उपयोग करने से बढ़ा हुआ दोष कम हो जाता है।
  10. जिन लोगो के डैंड्रफ ज्यादा होता है ऐसे लोग पुदीने की पत्ती का पेस्ट बनाकर बालो की जड़ों में लगाकर आधा घंटा छोड़ दे उसके बाद धो ले ऐसा करने से डैंडर्फ धीरे धीरे खत्म हो जाएगा और बालो को जड़े मजबूत होंगी ।
  11. जिन लोगो के सिर में दर्द या माइग्रेन की समस्या हो वो लोग पुदीने की सुखी या गीली 100ग्राम पत्ती में 400ml नारियल का तेल मिलाकर किसी बन्द जार में डाल कर 7 दिन तक धूप में रखे उसके बाद आठवें दिन लाकर किसी कपड़े में छानकर उस तेल को सुरक्षित रखे जब भी सिर में दर्द हो तो उस तेल को सिर में लगा ले इससे बाल भी नही जड़ते।
  12. इसी तेल को ड्रोप या रूई की मदद से नाक में डालकर खींचे इससे भी आपको बहुत फायदा मिलेगा।
  13. जिन लोगो को मुंह में छाले होते है वो लोग पुदीने की पत्ती को पीसकर पेस्ट बनाएं एक चम्मच इसका पेस्ट एक गिलास पानी में मिलाकर मुंह में कुल्ला करके फेंक दे उससे मुंह के छालो में लाभ मिलेगा।
  14. जिन लोगो को अस्थमा या एलर्जी की शिकायत रहती है वो लोग पुदीने की पत्ती को सुखाकर और 50ग्राम हल्दी की गांठ और सोंठ तीनों को पीसकर पाउडर बनाकर रख ले और रोजाना एक कप पानी में चौथाई चम्मच पाउडर डालकर अच्छे से पकाए जब पानी आधा रह जाए तो उसे छानकर स्वादानुसार शहद मिलाकर चाय की तरह पीने से अस्थमा या एलर्जी में बहुत अच्छा लाभ मिलेगा।
  15. जिन महिलाओं को मासिक धर्म में पेट में दर्द की समस्या होती है। ऐसी महिलाएं पुदीने की सुखी पत्तियां एक चम्मच और अजवाइन एक चम्मच दोनो को एक कप पानी में डालकर दोनो को अच्छे से उबाल कर जब पानी आधा रह जाए उसे छानकर उसमें स्वादानुसार सेंधा नमक या शहद सुबह–शाम खाना खाने के एक घंटे बाद उपयोग करने से बहुत अच्छा लाभ मिलता है और साथ में सिंपल गर्म पानी से भी सिकाई करे।

पुदीने में पाए जाने वाले पोषक तत्व

पोषक तत्व100 ग्राम पुदीने में
कुल वसा0.7 ग्राम
संतृप्त वसा0.2 ग्राम
पॉलीअनसेचुरेटेड वसा0.4 ग्राम
मोनोअनसैचुरेटेड वसा0 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल0 मिलीग्राम
सोडियम30 मिलीग्राम
पोटेशियम458 मिलीग्राम
कुल कार्बोहाइड्रेट8 ग्राम
आहार फाइबर7 ग्राम
प्रोटीन3.3 ग्राम
विटामिन ए81%
विटामिन सी22%
कैल्शियम19%
आयरन66%
विटामिन डी0%
विटामिन बी -610%
कोबालिन0%
मैग्नीशियम15%

पुदीना के नुकसान

  • इसका जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल ना करे नुकसान kr सकता हैं।
  • जिन लोगो के पित्त की थैली में पथरी की शिकायत है वो लोग भी इसका उपयोग ना करें।
  • जिन लोगो को गुर्दे में किसी भी तरह का विकार है या संक्रमण ही वो लोग इसका उपयोग बिलकुल न करें नुकसानदेय हो सकता है।

पुदीने के कुछ अलग उपयोग

  • पुदीने से सत्व बनाया जाता है जिससे
  • कफ सिरप
  • तेल
  • टूथपेस्ट
  • चिंगम
  • टॉफी
  • साबुन
  • टेलकम पाउडर
  • ईचिंग क्रीम में
  • माउथ फ्रेशनर
  • जलजीरे में

पुदीने के प्रकार

  • मीठा पुदीना – इसकी पत्तियां बड़ी और गोल होती है।
  • Spearmint – इसका उपयोग बहुत सारी रेसिपी में होता है।
  • Papermint – इसका उपयोग ड्रिंक्स,चिंगम,टूथपेस्ट आदि में किया जाता है।
  • सुगंधित पुदीना– इसको स्पेशल फ्लेवर देने के लिए जैसे चॉकलेट और पाईंनप्पल के साथ उपयोग किया जाता हैं।

घर में पुदीना कैसे उगाए

  • पुदीने के बीज को उगाने की कोशिश ना करे क्योंकि वो बहुत समय लेते है और यह फिक्स भी नही की वो उग भी जाए।
  • इसलिए पुदीना के पोधे ले, पौधे सड़े गले नहीं होने चाहिए। पौधों में जड़ नहीं है तो जड़ उगाने के लिए 10-15 पुदीना की डाली ले, डालियों के नीचे से छः सात पत्ते हटा ले।
  • सभी पुदीना की डालियों को एक जगह करके रबर से बांध ले। एक बड़ी सी लकड़ी को डालियों के गुच्छे में इस तरह लगाए की जब गुच्छे को पानी में रखेंगे तब डालियों का आधा गुच्छा पानी में डूबे।
  • एक गिलास में पानी भर कर उसमें डालियों के गुच्छे को रख दे ध्यान रखें की पानी में उतना हिस्सा पानी में डूबे जितने में हमे जड़ उगानी है।
  • गिलास को ऐसी जगह रख दे जहा उजाला हो लेकिन धूप सीधी नहीं पड़े। बारह दिन तक पुदीना की डालियों के गुच्छे को पानी से भरे गिलास में ही रहने दे लेकिन पानी हर तीसरे दिन बदले।
  • बारह दिन बाद डालियों में जड़ निकल जायेगी, फिर डालियों में से रबर को हटा ले और अलग अलग कर ले।
  • एक गमले या बाल्टी में मिट्टी और कम्पोस्ट की मिलाकर भर दे, मिट्टी को हल्का सा गीला करने के लिए पानी डाले। फिर गमले में थोड़ी थोड़ी दूरी पर सभी डालियों को जड़ की तरफ से लगा दे। डालियां लगाने के बाद पानी छिड़क दें।
  • रोजाना पानी दे, मिट्टी को सूखने नहीं दे। एक महीने बाद पौधे बड़े हो जाएंगे।

पुदीना उगाने से पहले ये गलतियां ना करे।

  • पुदीना को लगाते समय पुदीने की पतली डंडी को न लगाए वर्ना उसको उगने में परेशानी होगी और फंगस भी लग सकती है।
  • तो आप हेल्थी,मोटी डंडी का ही उपयोग करे।
  • ज्यादा पानी नहीं दे अगर आप दोगे तो डालियां गल जायेगी और पोधा नही उगेगा। इसीलिए पानी उतना दे जिससे मिट्टी सूखे नहीं और पोधा गले भी नहीं।
  • पत्तियां (Mint Leave) डंडी में से निकलते समय उनको आराम से निकाले क्योंकि वही से उनकी जड़े निकलेंगी ।
  • पानी सिंपल ही ले RO प्यूरीफायर का पानी ना ले।
  • थोड़ा पानी गिलास में भरे फुल ना भरे।
  • गिलास को ठंडी और उजाले वाली जगह पर ही रखे।
  • पानी को कम से कम 5 दिन में बदलते रहे ।
  • अगर मिट्टी में पुदीना लगाए तो उससे पहले मिट्टी को थोड़ा पानी डालकर नम कर ले ।
  • मिट्टी लगाते समय अगर आप पुदीने को लिटाकर या तिरछा लगाएंगे तो पुदीने में से नई पौधे ज्यादा उगेंगे ।
  • पुदीना लगाते समय मिट्टी को हल्के साथ से दबाए ।
  • पुदीने के पौधे को ज्यादा रोशनी की जरूरत नही होती।
  • ज्यादातर गोबर का खाद का ही उपयोग करे।

और पढ़ें: सेब के सिरके के नुकसान | Apple Vinegar ke Fayde

आपको Mint Leave | Pudina Ke 29 Fayde In Hindi यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Lokesh Jangid
Hello everybody! I am a certified Sports Nutritionist and Personal Trainer. So here on this website, you got some informative articles regarding Nutrition, training, Supplements, and many more. I had seen some ups and downs in this field which I also want to share with you all. Keep supporting, Thank You

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,043FansLike
2,989FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles