How To Prevent Diabetes In Hindi | मधुमेह का उपचार | what causes diabetes type 2 | causes and prevention of diabetes | टाइप 1 मधुमेह का उपचार | How To Prevent Diabetes

हाई ब्लड शुगर लेवल को हम डायबिटीज़ यानी मधुमेह के नाम से जानते हैं. अगर इसकी जांच न की जाए, तो इससे त्वचा और आंखों से जुड़ी आम परेशानियों से लेकर ब्रेन स्ट्रोक और नर्वस सिस्टम से जुड़ी गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है |

आओ चलो  How To Prevent Diabetes In Hindi | मधुमेह का उपचार  के बारे में विस्तार से चर्चा करते है |

मधुमेह का उपचार (How To Prevent Diabetes)

मधुमेह एक गंभीर बीमारी है। अगर आपको पता चल जाता है कि आपके मधुमेह की बीमारी है तो आप इसे हल्के में ना ले इसके बारे में लापरवाही नहीं करे।

टाइप 1 मधुमेह का उपचार :-

टाइप 1 मधुमेह उपचार में इंसुलिन इंजेक्शन लगाया जाता हैं इंजेक्शन के द्वारा इंसुलिन को त्वचा के नीचे पाए जाने वाले वसा युक्त ऊतक में पहुंचाया जाता हैं। इंसुलिन इंजेक्शन लेने के लिए कई तरीके उपलब्ध हैं।
जैसे- सीरिंज, इंसुलिन पेन, जेट इंजेक्टर और इंसुलिन पंप।
कई प्रकार के इंसुलिन उपलब्ध हैं जो इस बात पर निर्भर करता है कि यह कितने समय के लिए काम कर रहा है- लघु अभिनय, मध्यम अभिनय और लंबे अभिनय।
आपको अपने उपचार को बेहतर बनाने के लिए लगातार रक्त शर्करा परीक्षण, नियोजन भोजन, दैनिक व्यायाम और निर्धारित समय पर इंसुलिन लेना आवश्यक है।
आपकी अपने रक्त शर्करा के स्तर पर बारीकी से निगरानी करनी चाहिए और रक्त शर्करा के स्तर के आधार पर अपनी इंसुलिन इकाइयों में समायोजन के साथ-साथ अपनी जीवन शैली में आवश्यक बदलाव करना भी जरूरी है। फिर आप अच्छे से जीवन जी सकते है।

  • और पढ़ें: दूध और केला एक साथ खाने से क्या होता हैं।
  • केले की शुद्धता पता करने का तरीका
  • चेहरे का ग्लो बढ़ाने के लिए

टाइप 2 मधुमेह का उपचार :-

मधुमेह के रोगियों को ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए कुछ कदम उठाने चाहिए। (How To Prevent Diabetes)
जैसे – 1. वजन घटना
2. पौष्टिक भोजन
3. नियमित व्यायाम
4. मधुमेह की दवा या इंसुलिन थेरेपी

1.वजन घटना

वजन कम करने से भी आपका ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है। आपके शरीर के वजन में से 5%-10% कम जाता है तो ब्लड शुगर में फर्क पड़ सकता है। इसका मतलब है कि कोई व्यक्ति जिसका वजन 82 किलोग्राम है तो ब्लड शुगर के स्तर पर प्रभाव डालने के लिए 5.9 किलोग्राम वजन कम करना होगा। स्वस्थ खाद्य पदार्थ खाने से वजन कम कर सकते हैं।

2. पौष्टिक भोजन

  • मधुमेह के मरीजों को ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य रखने के लिए पौष्टिक भोजन लेना चाहिए। इन्हे कम कैलोरी, कम परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट, विशेष रूप से मिठाई, कम वसा वाले खाद्य पदार्थ, अधिक सब्जियां और फल, फाइबर युक्त अधिक खाद्य पदार्थ ही भोजन में शामिल करने चाहिए।
  • आपको अपने रक्त शर्करा के स्तर को और अधिक स्थिर रखने के लिए क्या खाना चाहिए क्या नहीं खाना चाहिए इसके बारे में जानकारी जरुर रखे। मधुमेह के मरीज क्या खाए और क्या नहीं खाए (Diabetes Diet)

3. नियमित व्यायाम

  • नियमित व्यायाम ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य रखने में मदद करता है। व्यायाम करने से पहले अपने ब्लड शुगर के स्तर की जाँच करें। यदि आप मधुमेह की दवाइयाँ लेते हैं जो आपके ब्लड शुगर को कम करती हैं, तो ब्लड शुगर के स्तर को कम करने के लिए व्यायाम करने से पहले आपको एक स्नैक खाना चाहिए।
  • सप्ताह के अधिकांश दिनों में कम से कम 30 से 60 मिनट तक मध्यम एरोबिक व्यायाम करें।
  • एरोबिक व्यायाम, जैसे कि ज्यादातर दिनों में चलना या नृत्य करना, प्रतिरोध प्रशिक्षण के साथ संयुक्त, जैसे कि सप्ताह में दो बार वेटलिफ्टिंग या योग।

4. मधुमेह की दवा या इंसुलिन थेरेपी

कुछ लोग जिन्हें टाइप 2 मधुमेह है, वे अपने ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य करने का लक्ष्य आहार के साथ प्राप्त कर सकते हैं और व्यायाम करके भी प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन कुछ डायबिटीज मरीजों को मधुमेह दवाओं या इंसुलिन इंजेक्शन की भी आवश्यकता होती है।

मधुमेह के घरेलू नुस्खे

1. इन्द्रजौ :-

  • सामग्री :-
  • भुने हुए चने 150 ग्राम
  • बादाम 150 ग्राम
  • इन्द्रजौ 150 ग्राम

दवाई कैसे बनाए
भुने चने, बादाम, इन्द्रजौ तीनों चीजों को मिक्सी से पीस लेे। इन्द्रजौ बहुत ही फायदा पहुंचाते हैं स्पेशली शुगर कंट्रोल करने में या फिर शुगर से छुटकारा पाने में। यह बहुत प्राचीन मेडिसिन है।
चना भी बहुत फायदेमंद होता है इसमें कार्बोाइड्रेट, प्रोटीन, केल्शियम, आयरन व विटामिन्स होते है।
बादाम में प्रोटीन, मिनरल्स, विटामिन्स, फाइबर और बहुत ज्यादा कंट्रोल करता है आपके कोलेस्ट्रॉल को। जो शुगर के मरीज है उनको बादाम जरूर खानी चाहिए।
तीनों चीजों को मिक्सी में पीसकर अच्छे से मिला ले। यह बहुत ही अच्छी दवाई है डायबिटीज के रोगियों के लिए, इस पाउडर में से छोटी एक चम्मच सुबह खाली पेट पानी से इसका सेवन कर ले।

2. कलौंजी का पानी :-

  • सामग्री :-
  • 5 ग्राम कलोंजी
  • डेड कप पानी

कैसे बनाते हैं
एक पैन लेे उसमे डेड कप पानी डाले। पानी डालने के बाद इसमें 2 से 5 ग्राम कलोंजी के दाने डाले फिर इसे गर्म करे। पानी की तब तक गर्म करें जब तक आधा पानी नहीं बच जाए। इसे छान ले गुनगुना होने के बाद पिए, इस पानी को सुबह खाली पेट रोजाना पिये। इस पानी से आपका ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। इसे 40 दिन तक पिए।

3. गुड़हल के पत्ते :-

गुड़हल के 8 से 10 पत्ते लेे इनको अच्छे से पीसकर एक पेस्ट बना लें। फिर एक गिलास पानी में 3 से 4 चम्मच पेस्ट डाले अच्छे से मिलाकर रात भर के लिए रख दे। और सुबह उठकर खाली पेट इस ड्रिक का सेवन कर ले। गुड़हल के पत्तो में फेरुलिक एसिड होता है जो डायबिटीज की बीमारी में लाभदायक होता है। अगर आप उस नुस्खे का 15 दिन लगातार इस्तेमाल करते है तो आप देखेंगे कि शुरुआत के केवल 10 दिन में ही आपका शुगर लेवल अच्छी तरह इप्रुव हो जाएगा है और 15 दिन में तो पूरी तरह कंट्रोल हो जाएगा।

4. सहजन के पत्ते :-

एक कटोरी सहजन के पत्तो को एक गिलास पानी के साथ मिक्सर में पीस लें। इस ज्यूस को सुबह व शाम खाना खाने से आधा घंटा पहले पीले। सहजन के पत्ते के अंदर एस्कार्बिक एसिड पाया जाता है जो शरीर में इंसुलिन की मात्रा को प्राकृतिक रूप से तेज़ी से बढ़ाता है। जिससे हमारा ब्लड शुगर लेवल कम होता है। जो लोग इन्सुलिन के लिए इंजेक्शन व दवाई लेते है उनके लिए यह प्राकृतिक इन्सुलिन की तरह है। इसमें फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है। जिससे यह हमारा मेटाबोलिज़्म सिस्टम व इम्युन सिस्टम सही करता है। इसका सेवन करने से टाइप 2 डायबिटीज से छुटकारा मिल जाता है।

5. चूर्ण बनाए :-

  • सामग्री :-
  • 100 ग्राम जामुन के बीज का पाउडर
  • 150 ग्राम बेलपत्र का पाउडर
  • 50 ग्राम तेजपत्ता का पाउडर
  • 50 ग्राम मेथी दाना का पाउडर

इन चारो चीजों को मिलाकर एक चूर्ण बनाले। इस चूर्ण का रोजाना खाली पेट 1 से 1.5 चम्मच खाना खाने से एक घंटे पहले हल्के गर्म पानी के साथ पिए।
बेलपत्र के अंदर एंटी बायोटिक प्रोपर्टीज होती है जो कि शरीर में शुगर की मात्रा को कम करती है।
जामुन के अंदर एंटी ओक्सीडेंट प्रोपर्टीज पाई जाती है साथ ही इसमें अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है। जो डायबिटीज में चमत्कारी रूप से फायदेमंद साबित होता है। इस अदभूत नुस्खे को पुराने समय से लोग इस्तेमाल करते आ रहे है। यह डायबिटीज की बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए अबतक का सबसे असरदार नुस्खा है।

6. विटामिन सी :-

विटामिन सी पुरानी मधुमेह को भी ठीक कर देता है, इसीलिए आपको रोजाना विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे संतरे, नींबू, सी बकथार्न आदि का सेवन करना चाहिए। यह स्वस्थ्य त्वचा के लिए तो फायदेमंद है बल्कि ब्लड शुगर के स्तर को भी सामान्य रखता है।

7. दालचीनी :-

आधा चम्मच पिसी हुई दालचीनी लेे। उसे एक गिलास हल्के गर्म पानी में मिलाकर रोजाना एक बार इसका सेवन करें। दालचीनी में बायोएक्टिव यौगिक होता है जो मधुमेह को रोकने और लड़ने में मदद करता है।

8. मेंथी :-

  • 2 चम्मच मेथी के दाने को रात भर पानी में भिगोएँ और अगली सुबह दाने के साथ इसे खाली पेट पिएं। यह आपके ग्लूकोज के स्तर को सामान्य बनाने में मदद करता है।
  • मेंथी हमेशा भारतीय रसोई में पाई जाती है, इसके कई फायदे हैं। यह ग्लूकोज सहिष्णुता में सुधार, रक्त शर्करा के स्तर को कम करने और इंसुलिन के स्राव को उत्तेजित करते हुए मधुमेह को रोकने के लिए जाना जाता है।

9. ऐलोवेरा :-

एलोवेरा भारतीय घरों में आसानी से मिल जाता है।  हालाँकि यह स्वाद में कड़वा होता है, लेकिन छाछ के साथ इसे मिलाकर इसका स्वाद बेहतर हो जाता है।  आमतौर पर, एलोवेरा का उपयोग सौंदर्य प्रयोजनों के लिए किया जाता है, लेकिन इसका उपयोग रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में भी किया जाता है।

एलर्जी अस्थमा (Allergic asthma)

CONCLUSION

आपको How To Prevent Diabetes In Hindi | मधुमेह का उपचार  यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे
जिससे आपको ई- मेल के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Show 2 Comments

2 Comments

    • Pramod Jangid

      Thank You So Much For Appreciation
      Please Visit Regularly Our Blog For New Health Information.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *