Gond Katira Benefits | गोंद कतीरा के 26 फायदे | गोंद कतिरा के नुकसान | गोंद कतीरा के गुण | गोंद कतीरा खाने के तरीके | गोंद कतीरा के फायदे | Gond Katira Benefits | गोंद कतीरा के 26 फायदे

गोंद कतीरा को इंग्लिश में Tragacanth gum बोलते हैं। गोंद कतीरा हल्का पीला और सफेद रंग का होता है। यह हमे पेड़ की जड़ और तने से मिलता है, इस पेड़ का वानस्पतिक नाम Astragalus gummifer हैं। यह पेड़ ईरान, ईराक, रूस, ग्रीस, टर्की में मिलता है। सबसे ज्यादा गोंद कतीरा ईराक से मिलता है। गोंद कतीरा हमारे सेहत के लिया बहुत फायदेमंद होता है। इसकी तासीर ठंडी होती है यह हमे शरीर के अंदर की गर्मी से छुटकारा दिलाता है। गर्मियों में इसका सेवन जरूर करना चाहिए। गोंद कतीरा का सेवन सर्दियों में भी कर सकते हैं, सर्दियों में इसे देसी घी में भूनकर खा सकते हैं जिससे इसकी तासीर गर्म हो जाती है। गोंद कतीरा के बहुत फायदे हैं।

और पढ़ें: – क्या रेमडेसिवीर इंजेक्शन कोरोना का इलाज करता है?

और पढ़ें: – भारत में covid-19 के नए लक्षण

और पढ़ें: – हल्दी नींबू पानी के फायदे

आइए जानते हैं गोंद कतीरा के 26 फायदे

गोंद कतीरा के गुण

  1. गोंद कतीरा खाने से पेट सही से साफ हो जाता है, कब्ज की समस्या पेट की जलन दूर हो जाती है।
  2. इसको खाने से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  3. गोंद कतीरा खाने से सूखी खासी सही हो जाती है।
  4. स्वपंदोष, शीघ्रपतन से छुटकारा मिल जाता है।
  5. इसके सेवन से शरीर फुर्ती आती है, थकान नही होती है।
  6. गोंद कतिरा खाने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।
  7. एक गिलास पानी में एक चम्मच गोंद कतिरा और मिश्री भिगोकर सुबह खाने से हाथ पैरो में जलन और शरीर में कपकपी नहीं होती है।
  8. पेशाब में जलन होने पर गोंद कतिरा का सेवन भिगोकर और मिश्री मिलाकर करे।
  9. पेशाब रूक रुककर आने पर गोंद कतिरा खाना चाहिए।
  10. स्तनों को बड़ा करने के लिए गोंद कतिरा खाना चाहिए। एक चम्मच गोंद कतिरा को पानी भिगो दें और सुबह एक गिलास गर्म दूध को ठंडा करके गोंद कतिरा डालकर पी ले।
  11. दिन से नींद आने पर काम करने में मन नहीं लगता इसीलिए गोंद कतीरा खाना चाहिए। जिससे शरीर में फुर्ती आती है और आलस्य नही आता है।
  12. अत्यधिक महामारी आने पर महामारी के चौथे दिन से गोंद कतिरा खाने लग जाए और 20–25 दिन तक खाए, अगले महामारी में आपको फायदा मिलेगा।
  13. नकसीर जिन लोगो को आती है उन्हे गोंद कतीरा जरूर खाना चाहिए, नकसीर में बहुत लाभ होता है।
  14. घबराहट होने पर गोंद कतिरा खाए।
  15. अगर पसीना ज्यादा आता है और उसमे बदबू आने पर गोंद कतिरा खाना चाहिए। जिससे पसीना कम आएगा और पसीने से बदबू नहीं आयेगी।
  16. गोंद कतिरा हीमोफीलिया के रोगियों के लिए बहुत अच्छा है। जब रक्त प्रोटीन की कमी आती है तो खून के थक्के नहीं बनते जिससे चोट लगने पर खून का बहना जल्दी से बंद नही होता है। गोंद कतीरा उस प्रोटीन की पूर्ति करता है।

और पढ़ें:Pudina Ke 29 Fayde In Hindi

गोंद कतीरा के फायदे [ Gond Katira Benefits ]

1. गर्मी में लू से बचे

  • गोंद कतीरा लू से बचाता है। लू से बचने के लिए गोंद कतिरे को पीसकर शाम को भिगो दें और सुबह नींबू का रस, मिश्री मिलाकर शरबत बनाकर पिए। यह शरबत आपको गर्मियों में चलने वाली लू से बचाता है।

2. गर्मी से बचे

  • गोंद कतिरा गर्मी की वजह से चक्कर आना, उल्टी होना बंद कर देता है।
  • गर्मी से बचने के लिए शाम को पानी में गोंद कतीरा पीसकर भिगो दें और सुबह गोंद कतीरे को छाछ में मिलाकर पीने से गर्मी से होने वाली समस्या नहीं होती है।

3. थकान दूर करे

  • गोंद कतिरा खाने से थकान, माइग्रेन की समस्या नहीं होती है।
  • इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए शाम को पानी में एक चम्मच गोंद कतिरा और चार पांच बादाम भिगो दें, स्वादनुसार मिश्री भिगो दें।
  • बादाम और गोंद कतीरा को पीसकर मिश्री का पानी मिलाकर दूध में लस्सी बनाकर पीने से थकान और माइग्रेन की समस्या नहीं होती है।

4. कमजोरी दूर करे

  • गोंद कतीरे में फोलिक एसिड और प्रोटीन होता है, गोंद कतीरे को खाने से कमजोरी दूर हो जाती है।
  • कमजोरी दूर करने के लिए 20 ग्राम गोंद कतीरा को शाम के समय दूध में भिगो दें और सुबह इसमें मिश्री मिलाकर खा ले। इससे कमजोरी दूर हो जाएगी।

5. स्त्रियों के रोग दूर करे

  • गोंद कतिरा स्त्रियों के रोग जैसे सफेद पानी आना, ज्यादा महामारी आना, मां बनने के बाद होने वाली थकान को दूर करता है।
  • इन बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए गोंद कतिरा और मिश्री को बराबर पीसकर शाम पानी में भिगो दें, सुबह कच्चे दूध में मिलाकर पिए।

6. बवासीर होने पर

  • खूनी बवासीर, बादी बवासीर, मस्सो वाली बवासीर होने पर गोंद कतिरा खाना बहुत फायदेमंद होता है।
  • बवासीर रोगी गोंद कतिरा को शाम के समय पानी में भिगो दें और सुबह छाछ में मिलाकर खाए।

7. वजन घटाए

  • गोंद कतीरा खाने से बढ़ते वजन को घटा सकते हैं। इसके सेवन से शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। गोंद कतीरा में हाई फाइबर होता है जिससे इसको खाने से पेट भरा रहता है।
  • वजन कम करने के लिए एक चम्मच गोंद कतीरा को शाम के समय भिगो दें। सुबह उसमे शहद या गुड़ मिलाकर खा ले, वजन कम होना शुरू हो जाएगा।

8. प्रेग्नेंसी के बाद की कमजोरी दूर करे

  • गोंद कतिरा प्रेग्नेंसी के बाद मां को होने वाली कमजोरी को दूर करता है। यह मां को ताकत देता है जिससे उसे थकान, चक्कर नहीं आते हैं।
  • प्रेग्नेंसी के बाद की कमजोरी दूर करने के लिए गोंद कतीरे के लड्डू खाने चाहिए।

9. छाले ठीक करे

  • जिन लोगो को छाले की समस्या है उनको गोंद कतीरा का सेवन करना चाहिए। छालों के कारण मुंह में सूजन, लालिमा आ जाती है उसको भी गोंद कतिरा दूर कर देता है।
  • छालों से छुटकारा पाने के लिए गोंद कतीरा को पीसकर भिगो दें, भीगने के बाद छाले पर रख दें जिससे आपको छालों से राहत मिलेंगी और छालों में ठंडक मिलेगी।

10. त्वचा के लिए फायदेमंद है

  • गोंद कतीरा त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। यह हमारी त्वचा को सुंदर बनाता है। गोंद कतीरा में ऐसे गुण होते हैं जो चेहरे पर झुर्रियां जल्दी नहीं आने देता है।
  • त्वचा में निखार चमक लाने के लिए गोंद कतीरा पीसकर भिगो दें, भीगने के बाद उसे छान लें। भीगे गोंद कतीरे में एक चम्मच मिल्क पाउडर, आधा चम्मच मुल्तानी मिट्टी मिलाकर चेहरे पर लगाएं और सूखने के बाद मुंह धोले।

और पढ़ें:Turmeric Benefits for Skin

गोंद कतीरा खाने के तरीके

  1. गोंद कतीरा को सिर्फ दिन में एक बार खाए।
  2. इसको भिगो कर खाते हैं भीगने के बाद गोंद कतीरा फूल जाता है।
  3. एक या दो या फिर तीन छोटी चम्मच गोंद कतिरा इससे ज्यादा नहीं ले उसे शाम को पानी में भिगो दे और सुबह इसमें पीसी मिश्री या देसी खांड मिलाकर खा ले।
  4. गोंद कतीरे को पीसकर घी भूने फिर इसमें खांड मिलाकर लड्डू बनाकर खा सकते हैं।
  5. शाम के समय पानी में गोंद कतिरा पीसकर भिगो दें और सुबह इसमें नींबू का रस मिलाकर थोड़ा पतला करे और स्वादनुसार मिश्री या शहद मिला ले और फिर पी ले। गर्मी में ऐसे खाने से शरीर में कोई गर्मी नही होती है।
  6. शाम को पानी में गोंद कतीरा पीसकर भिगो दें और सुबह गोंद कतीरे को छाछ में मिलाकर पीने से गर्मी से होने वाली समस्या नहीं होती है।
  7. एक चम्मच गोंद कतीरा को शाम के समय भिगो दें। सुबह उसमे शहद या गुड़ मिलाकर खा सकते हैं, इससे वजन कम होता है।
  8. गोंद कतिरा और मिश्री को पीसकर शाम पानी में भिगो दे और सुबह कच्चे दूध में मिलाकर सकते हैं
  9. इसको शाम के समय दूध में भिगो दें और सुबह इसमें मिश्री मिलाकर खा सकते हैं।

गोंद कतीरा कोन कोन से रोगी खा सकते हैं

  • मधुमेह के रोगी
  • ह्रदय रोगी
  • त्वचा रोगी
  • बवासीर रोगी
  • हिमोफोलिया के रोगी
  • थायराइड रोगी
  • प्रदर रोगी
  • गोंद कतिरा खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

और पढ़ें:Hair Fall Rokne Ke Upay

गोंद कतिरा के नुकसान

  • इसका सेवन दिन में एक बार ही करे, इससे ज्यादा नहीं करें और तीन महीने से ज्यादा नहीं करें।
  • गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को डॉक्टर से सलाह लेकर ही गोंद कतिरा को खाए।
  • गोंद कतिरा खाने से पहले शरीर को हाइड्रेट जरूर रखे।
  • दवाई का सेवन करने से एक डेड घंटे पहले इसका सेवन करें।

गोंद कतीरा के लड्डू बनाने की विधि

सामग्रीग्राम
आटा200 ग्राम
देसी घी 1 कप (लगभग 200 ग्राम)
गोंद कटीरा75 ग्राम
नारियलआधा कद्दूकस किया
काजू50 ग्राम
बादाम50 ग्राम
किशमिश50 ग्राम
पिसी1 कप

बनाने की विधि

  • एक कड़ाई में दो बड़े चम्मच देसी घी डालकर गर्म कर ले। घी में बादाम और काजू को हल्का भून ले।
  • गोंद कतिरा को भी उसी घी मे भून ले यह भुनने के बाद फूल जाता है।
  • बादाम और काजू को काट ले और गोंद कतिरा को बारीक पीसकर रख दें। उसके बाद आटा को भी घी में अच्छे से भूने आता कच्चा नहीं रहना चाहिए।
  • भूने हुए आटा को बड़े बर्तन में निकाल ले उसमे सभी ड्राई फ्रूट और गोंद कतीरा डाले, अपने स्वाद के अनुसार देसी खांड डाले। सबको मिलाए फिर उसमे आवश्यकता के अनुसार देसी घी डाले, सबको मिलाकर लड्डू बना ले आपके लड्डू बन जाएंगे।

गोंद कतीरा और गोंद में अंतर

  • ज्यादातर लोग गोंद को ही गोंद कतीरा मानते हैं ऐसा नहीं। वैसे तो गोंद को खा सकते हैं और गोंद कटिरा को खा सकते हैं। लेकिन इनमे बहुत अंतर होता है जो जानना जरूरी है जिससे हम गोंद और गोंद कतिरा को पहचान सके।
  • गोंद और गोंद कतिरा दोनो के खाने के अलग अलग फायदे होते हैं। गोंद की तासीर गर्म होती है और गोंद कतीरा की तासीर ठंडी होती है।
  • गोंद कतीराऔर गोंद में अंतर
  • गोंद कतीरा चमकदार नही होता है यह सफेद कलर में और हल्का पीला होता है। गोंद चमकदार होता है और यह ब्राउन कलर का होता है।
  • गोंद कतीरा को भिगोने पर यह फूल जाता है यह जेली की तरह बन जाता है। गोंद को भिगोने पर यह पानी में घुल जाता यह तरल पदार्थ बन जाता है।
  • गोंद कतीरा की तासीर ठंडी होती है और गोंद की तासीर गर्म होती है।
  • गोंद को सर्दियों में खाया जाता है और गोंद कतीरा को गर्मियों में खाया जाता है।

स्किन को टाइट करने के लिए गोंद कतिरा का फेस मास्क

  • किसी किसी के चेहरे की त्वचा समय से पहले ढिली ढीली सी हो जाती है जिससे ऐसा लगता जैसे बुढ़ापा आ गया हो। हमेशा दिमाग में यही चलता रहता है कि में मेरी स्किन को टाइट कैसे करू।

हम आपको बताते हैं गोंद कटीरा से स्किन को टाइट कैसे करें

  • 10 ग्राम गोंद कतिरा को 100 ग्राम पानी में शाम के समय भिगो दें। सुबह तक यह अच्छे से फूल जायेगा इसे हाथ से अच्छे से मिक्स कर लें। इसमें दो छोटी चम्मच एलोवेरा जेल और आधा चम्मच कॉफ़ी पाउडर मिला दे। पेस्ट को टाइट करने के लिए इसमें बेसन मिला ले। सबको अच्छे से मिलाकर चेहरे पर लगाएं। सूखने के बाद हल्के हाथ से चेहरे को धोले, धोने के बाद एलवेरा जेल लगा ले। एक बात का जरूर ध्यान रखें की पेस्ट लगाने के बाद और चेहरा धोने तक बोले नहीं मुंह को नहीं चलाए। आप इसे हफ्ते में तीन बार लगाए आपकी स्किन टाइट हो जाएगी।
Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *