Cholesterol kya hai in Hindi | Symptoms of high cholesterol | symptoms of high cholesterol in hindi | कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण | Cholesterol kya hai in Hindi | Symptoms of high cholesterol | कोलेस्ट्रोल के प्रकार

कोलेस्ट्रोल क्या है (Cholesterol kya hai in Hindi )

  • कोलेस्ट्रोल मौम जैसा पदार्थ होता है जो शरीर के सभी अंगों में पाया जाता है।
  • यह यक्रत से उत्पन्न होता है, यह एक केमिकल कंपाउंड है।
  • जो हमारे शरीर में cell membrane estrogen testosterone hormone को बनाने में मदद करता है।
  • हमारे शरीर की कार्यप्रणाली सुचारू रूप से कार्य करें इसीलिए एक निश्चित कोलेस्ट्रोल की जरूरत होती है।
  • यह हमारे शरीर में हार्मोन, पाचक रस, विटामिन डी का निर्माण करता है जो शरीर की चर्बी को पचाने में मदद करता है।
  • हमारे शरीर में 20-25% कोलेस्ट्रोल लीवर से ही उत्पन्न होता है।
  • इसके अलावा ज्यादातर कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर भोजन के द्वारा पहुंचता है।
  • अनाज, फल और हरी सब्जियों में कोलेस्ट्रोल नहीं होता है मीट, मछली, डेयरी उत्पाद कोलेस्ट्रोल के स्त्रोत है।
  • कोलेस्ट्रोल ब्लड में घुलता नहीं है इसीलिए इसकी ज्यादा मात्रा हमारे शरीर के लिए हानिकारक होती है। इसकी वजह से कई घातक बीमारियां हो जाती है।
  • कोलेस्ट्रोल हमारे रक्त प्रवाह में होता है जो लीवर regulate किया जाता है।
  • जब हम खाना खाते हैं तो हमारी डाइट में जो कुछ खाद्य पदार्थ कोलेस्ट्रोल का होता है वो छोटी आंत द्वारा अब्जॉर्ब कर दिया जाता है।
  • metabolism के बाद यह लीवर में स्टोर होता है।
  • जब कभी भी शरीर को कोलेस्ट्रोल की जरूरत होती है तो लीवर इसे पहुंचता है उस बॉडी पार्ट तक।
  • आपके शरीर को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए कोलेस्ट्रोल की आवश्यकता होती है।
  • कोलेस्ट्रोल ब्लड में घुलता नहीं है अगर आपके शरीर में कोलेस्ट्रोल का लेवल बढ़ जाता है तो धमनियां बंद होने लगती है।
  • जिन धमनियों से ब्लड बहता है और कोलेस्ट्रोल ब्लड के साथ ही बहता है।
  • कोलेस्ट्रोल ब्लड में घुलता भी नहीं है अगर इसकी मात्रा ज्यादा हो जाती है तो कोलेस्ट्रोल उन धमनियों में ब्लॉकेज पैदा करता है। जिसे प्लेग कहा जाता है।
  • प्लेग की वजह से धमनियां नेरो होती है या ब्लॉक हो जाती है। जो कि हर्ट अटेक का सबसे बड़ा कारण है।

और पढ़ें: Benefits of Omega-3 Fatty Acid

कोलेस्ट्रोल के प्रकार

  • कोलेस्ट्रोल को lipoprotein भी कहा जाता है।
  • Cholesterolतीन प्रकार का होता है।

1. ldl कोलेस्ट्रोल

  • Ldl मे कोलेस्ट्रोल ज्यादा होता है और प्रोटीन कम होता है इसे bed cholestrol भी कहा जाता है।
  • अगर आपके शरीर में ldl की मात्रा बढ़ जाती है जिससे दिल का दौरा या स्ट्रोक जैसी स्वास्थ्य समस्याओं की संभावना बढ़ जाती है।
  • यह कोलेस्ट्रॉल खतरनाक नहीं है।
  • आपके शरीर को इसकी नसों की रक्षा करने और स्वस्थ कोशिकाओं और हार्मोन बनाने के लिए इसकी आवश्यकता होती है।
  • लेकिन इसकी मात्रा शरीर में बढ़नी नहीं चाहिए। यह हमारे शरीर में सीमित मात्रा में होना चाहिए।

2. hdl कोलेस्ट्रोल

  • Hdl में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है और कोलेस्ट्रोल की मात्रा कम होती है। इसीलिए इसे good cholestrol कहा जाता है।
  • अगर आपके शरीर में hdl की मात्रा बढ़ जाती है तो यह आपको heart disease और स्ट्रोक से बचाता है।

3. Vldl कोलेस्ट्रोल

  • Vldl मे ldl से भी कम प्रोटीन होता है इसे भी खराब कोलेस्ट्रोल कहा जाता है।
  • अगर आपके शरीर में Vldl की मात्रा बढ़ जाती है तो हर्ट अटेक का खतरा बढ़ जाता है। Vldl भी आपके शरीर के खतरनाक है।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण

  • कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने से कई बीमारियां हो जाती है लेकिन हम लोग ध्यान नहीं देते की हमारा कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ गया है।
  • WHO के अनुसार ऐसे दस कारण जिनकी वजह से पूरे विश्व में सबसे ज्यादा लोग अपनी जान गवा देते हैं।
  • इस लिस्ट में सबसे ऊपर ISCHEMIC Heart Disease है।
  • इस बीमारी मे दिल तक ब्लड और ऑक्सिजन सही तरह से नहीं पहुंचता है और किसी भी वक्त heart attack का खतरा बना रहता है।
  • इन बीमारियों की मुख्य वजह बड़ा कोलेस्ट्रोल होता है।
  • भारत में ही हर सक लगभग 12 लाख लोगो कि दिल की बीमारी से मौत हो जाती है।
  • अगर आपको कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण हैं तो तुरंत चेकअप कराए और इसको कम करने के लिए इलाज कराए।
  • आइए जानते हैं कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण

1. हाथ-पैर सुन्न होना

  • कोलेस्ट्रोल का लेवल ब्लड मे अधिक बढ़ जाता है तो शरीर में अंगों तक खून पहुंचाने वाली रक्त वाहिकाएं सिकुड़ने लगती है, वे बंद होने लगती हैं।
  • जिसकी वजह से body मसल्स मे रक्त प्रवाह कम होने लगता है।
  • खास कर पैरो मै ऐसे मे लोगो कर हाथ और पैर सुन्न होने लगते हैं या फिर बिना किसी वजह के हाथ-पैर में दर्द रहता है।
  • पैरो झनझनाहट और चींटी काटने जैसा महसूस होता है।

2. बहुत ज्यादा थकान और कमजोरी

  • कोलेस्ट्रोल बढ़ने की वजह से हमारा शरीर जरूरी पोषक तत्वों को पूरी तरह ग्रहण नहीं कर पाता है।
  • जिसकी वजह से शरीर में धीरे धीरे पोषक तत्वों की कमी आने लगती है।
  • साथ ही हाई ldl कोलेस्ट्रोल दिल तक ब्लड पहुंचाने वाली नसों में प्लेग जमा कर देता है।
  • इससे खून का दौरा कमजोर हो जाता है जिससे बहुत ज्यादा थकान और कमजोरी आ जाती है।
  • थोड़े से काम में ही जल्दी थकने जैसे लक्षण नजर आते हैं।
  • जो लोग रोजाना थकान महसूस करते हैं और आलस्य और सुस्ती आती है उन्हे कोलेस्ट्रोल की जांच जरूर करवानी चाहिए।

3. वजन बढ़ना

  • अगर शरीर में Hdl यानिकि अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है तो यह चर्बी को बढ़ने से रोकता है।
  • फेट को बर्न करने का भी काम करता है।
  • अगर ldl यानिकि बुरा कोलेस्ट्रोल बढ़ता है तो यह वजन तेजी से बढ़ाता है।
  • इसीलिए मोटे लोगो मे कोलेस्ट्रोल की मात्रा अधिक होती है और उन्हें दिल और दिमाग की बीमारी होने का खतरा अधिक होता है।

4. सिर दर्द और चक्कर आना

  • शरीर में बड़ा हुआ कोलेस्ट्रोल दिल के साथ साथ दिमाग में खून पहुंचाने वाली carotid arterys पर भी असर डालता है।
  • जिसकी वजह से सिर के पिछले हिस्से, आधे सिर मे दर्द होने लगता है।
  • शरीर में बड़े हुए Trigliserids की वजह माइग्रेन की समस्या हो सकती है।
  • कोलेस्ट्रोल बढ़ने की वजह चक्कर और घबराहट होने लगती है।

5. दिल की धड़कन तेज होना, छाती में दर्द

  • कोई भारी काम करने के बाद, एक्सर्साइज करने के बाद, शारीरिक कार्य करने के बाद हमारे दिल की धड़कन तेज हो जाती है।
  • इसमें कोई परेशानी की बात नहीं है।
  • अगर आपका कॉलेस्ट्रॉल बड़ा हुआ है तो थोड़ा सा चलने के बाद दिल की धड़कन तेज और सांस फूलने लगती है।
  • कॉलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से छाती मे दर्द होने लगता है कभी कभी कुछ चुबने जैसा अहसास होता है।

6. पलकों पर पीले रंग का होना

  • कोलेस्ट्रोल बढ़ने की वजह से पलक पीले रंग की होने लगती है।
  • इससे आपकी आंखों की रोशनी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। लेकिन यह कॉलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत है।

आपको Cholesterol kya hai in Hindi | Symptoms of high cholesterol यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *