Calcium: Health benefits, Foods In Hindi | Calcium rich foods in Hindi | calcium food sources | कैल्शियम युक्त खाद्य सामग्री | calcium foods | calcium rich foods in India

चलो Calcium rich foods in India | कैल्शियम की कमी के लक्षण के बारे में विस्तार से चर्चा करते है |

अगर आपको जानना हैं कि आपका इम्यून सिस्टम अच्छा है या नहीं ?

कैल्शियम क्या है ?

  • कैल्शियम प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला तत्व है, जो खाद्य पदार्थों में पाया जाता है।
  • Calcium हमारे शरीर के कई सामान्य कार्यों के लिए जरूरी होता है, विशेष रूप से हड्डियों के लिए।
  • कैल्शियम दूसरे खनिजों (जैसे फॉस्फेट) को भी शरीर में मिलाने और बाहर निकालने का काम करता है।
  • कैल्शियम कार्बोनेट एक सप्लीमेंट है, जिसका इस्तेमाल तब किया जाता है, जब आहार में कैल्शियम की मात्रा कम होने लगती है।
  • Calcium का सेवन एक एंटासिड के रूप में ऑस्टियोपोरोसिस की रोकथाम और कैल्शियम सप्लीमेंट के लिए किया जाता है। साथ ही, हाइपोकैल्शिमिया, हाइपरमैग्निशिमिया, हाइपोपैराथायरॉइडिज्म और विटामिन-डी की कमी को पूरा करने और इसके इलाज के लिए भी किया जाता है।

कैल्शियम की कमी के लक्षण

आपके शरीर में किसी भी अन्य खनिज की तुलना में  कैल्शियम अधिक होता है, और इसका 99% भाग आपकी हड्डियों और दांतों में पाया होता है।  इसका मतलब है कि कैल्सियम हमारी हड्डियों और दांतों के लिए महत्वपूर्ण है।  कैल्शियम आपकी नसों, हृदय और मांसपेशियों के कार्य के लिए भी महत्वपूर्ण है।

अगर हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है तो हमे कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

आइए जानते है कैल्शियम की कमी के लक्षण

कैल्शियम की कमी के लक्षण

1. मांसपेशियों की समस्या

  • मांसपेशियों में दर्द, ऐंठन कैल्शियम की कमी का शुरुआती लक्षण हैं।
  • कैल्शियम की कमी से आपकी जांघों और बाहों में दर्द होने लग जाता है।
  • कैल्शियम की कमी से हाथ, पैर सुन्न होने लग जाते है।

 2. अत्यधिक थकान

  • कैल्शियम की कमी से अनिद्रा या नींद न आने का कारण बन सकता है।
  • कैल्शियम की कमी से थकान, आलस्य, चक्कर आने लग जाते है और आपका सिर भारी भारी सा रहने लग जाता है।
  • इसके साथ ध्यान की कमी, भूलने की बीमारी भी होने लग जाती है।

 3. नाखून और त्वचा के लक्षण

  • कैल्शियम की कमी से त्वचा और नाखूनों में भी बीमारी होने लग जाती हैं। त्वचा सूखी रहने लग जाती है।
  • त्वचा में खुजली, लालिमा और फफोले हो जाते हैं।
  • कैल्शियम की कमी से नाखून टूटने लग जाते हैं। नाखूनों पर सफेद दाग हो जाते है |

4. ऑस्टियोपोरोसिस का होना

  • उम्र के साथ-साथ हड्डियों का कमजोर होना सामान्य बात है।
  • मगर जब यही हड्डियाँ इतनी कमजोर हो जाएँ कि आसानी से टूटने की कगार पर पहुँच जाए उस स्थिति को ऑस्टियोपोरोसिस कहते हैं।
  • कैल्शियम की कमी से ऑस्टियोपोरोसिस हो सकता है।

 5 दर्दनाक प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (PMS)

  • प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम एक ऐसी समस्या हैं जों महिलाओं को हर महीने मासिक धर्म शुरू होने से कुछ दिन पहले होती हैं।
  • इसके दौरान महिलाओं को शारीरिक और भावनात्मक कमजोरी महसूस होती हैं।
  • कैल्शियम की कमी से प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम भी ही जाती है।

 6. दांतों की समस्या

  • जब शरीर में कैल्शियम की कमी होती है, तो कमजोर जड़ों, चिढ़ मसूड़ों, भंगुर दांतों और दांतों की सड़न सहित दंत समस्याएं उत्पन्न हो जाती है साथ ही, शिशुओं में कैल्शियम की कमी से दांत आने में देरी हो जाती है।

 7. उदास रहना

  • कैल्शियम की कमी को हम उदास रहने लग जाते है। हमेशा तनाव में रहने लग जाते है।
  • उदास रहना भी केल्शियम की कमी का लक्षण है |

8. बालो का झड़ना

  • अगर आपके बाल अचानक झड़ने, टूटने लग गए हैं तो समझे की आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो गई हैं।
  • आप अपना कैल्शियम टेस्ट जरूर कराए।

9. सोने का समय बदलना

  • कैल्शियम की कमी से आपका सोने का समय बदल जाता है। पहले आप बिस्तर पर शाम को सोते थे तो तुरंत नींद आ जाती थी और कुछ दिनों से आती नहीं है। तो इसका मतलब आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है।

और पढ़ें:– अस्थमा क्या है?

कैल्शियम को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ ( Calcium rich foods in India )

कैल्शियम आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। आपके शरीर में किसी भी अन्य खनिज से अधिक मात्रा में कैल्शियम होता है। यह आपकी हड्डियों और दांतों को बनाता है और हृदय स्वास्थ्य, मांसपेशियों के कार्य और तंत्रिका संकेतन में भी कार्य करता है।

 आइए जानते हैं हमारे शरीर में कैल्शियम बढ़ाने वाले कोन कोन से खाद्य पदार्थ है।

कैल्शियम को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ ( Calcium rich foods in India )

1. डेयरी प्रोडक्ट्स

  • डेयरी प्रोडक्ट्स में आता है दूध व दूध से बनी चीजें जैसे कि मक्खन, दही, पनीर, मलाई और घी।
  • दूध केल्शियम का बहुत अच्छा प्रोडेक्ट्स है। दूध से हमारी हड्डियों मजबूत होती है।
  • हमारी हड्डियों में जब केल्शियम की कमी हो जाती हैं तो आवाज आने लग जाती है वह आवाज आनी बंद हो जाती है।
  • हमारी नसी व मासपेशियों में कैल्सियम की कमी से जो दर्द होता है वह बंद हो जाता है।
  • पनीर, दही, घी से भी कैल्सियम प्राप्त होता है। घी खाने से पीठ दर्द, पैरो में दर्द और सूजन जैसी कोई समस्या नहीं होती है।

2. हरी सब्जियां

  • हरी सब्जियों बहुत ज्यादा केल्शियम होता है। जैसे बथुआ, पालक, पत्ता गोभी, भिंडी, अरबी, मशरूम, ब्रोकली, हरा प्याज आदि। इन सब्जियों में विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन ई की मात्रा अच्छी होती है। मिनरल्स होते है जो हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक है।
  • कभी कभी हमारे चेहरे पर सफेद दाग हो जाते हैं त्वचा रूखी सी रहने लग जाती है ये सब केल्शियम की कमी से होता है। इसीलिए हमें हरी सब्जियां जरूर खानी चाहिए। हरी सब्जियों में अधिक मात्रा में केल्शियम होता है।

3. दाल

  • दालों में भी केल्शियम होता है हमे दाल का सेवन जरूर करना चाहिए। सबसे ज्यादा केल्शियम राजमा, छोला में पाया जाता है।
  • कैल्सियम की कमी से जो थकान होती है वह दाल खाने से दूर हो जाती है। क्योंकि दाल खाने से शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है|

4. बादाम

  • सभी ड्राय फ्रूट्स में से केल्शियम बादाम में ज्यादा मात्रा में होता है। 1 कप में बादाम में 385 मिलीग्राम कैल्शियम होता है।
  • कुछ लोगों में केल्शियम की कमी से नाखून टूटने लग जाते है नाखूनों पर सफेद दाग हो जाते है। इसीलिए जो लोग रोजाना सुबह भीगे बादाम खाते हैं उनकी ये परेशानी दूर हो जाती है।

5. सूखे अंजीर

  • लगभग आठ अंजीर, या 1 कप अंजीर खाने से 241 मिलीग्राम कैल्शियम प्राप्त होता है। अंजीर हमे दोपहर को खाना चाहिए। इससे केल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है।

6. सोया दूध

  • एक कप सोया दूध में गाय के दूध के बराबर कैल्शियम की मात्रा होती है। कैल्शियम की कमी को दूर करने में सोया दूध बहुत अच्छा है।
  • सोया दूध भी विटामिन डी होता है, और इसमें कम संतृप्त वसा होता है।

 7. सूरजमुखी के बीज

  • एक कप सूरजमुखी के बीज में 109 मिलीग्राम कैल्शियम होता है।
  • सूरजमुखी के बीज में मैग्नीशियम भी होता हैं, जो शरीर में कैल्शियम के प्रभाव को संतुलित करता है और तंत्रिका और मांसपेशियों को स्वस्थ्य रखता है।
  • इसके अलावा, सूरजमुखी के बीज में विटामिन ई और कॉपर होता है।
  • सूरजमुखी के बीज हड्डियों को मजबूत रखते हैं ।
  • हालांकि, सूरजमुखी के बीजों में उच्च मात्रा में नमक होता है, जो शरीर के कैल्शियम के स्तर को कम करता है। इसीलिए स्वास्थ्य लाभों के लिए, कच्चे, अनसाल्टेड बीजों का चयन करें।

8. तिल के बीज

  • तिल के बीज का सिर्फ 1 बड़ा चम्मच खाने से एक व्यक्ति को 88 मिलीग्राम कैल्शियम प्राप्त होता है। 
  • यह बीज को एक सलाद के ऊपर छिड़के या एक पौष्टिक स्वाद के लिए रोटी मिलाए। इससे आपके शरीर में कैल्शियम की कमी नहीं रहेगी।
  • तिल के बीज में जिंक और कॉपर भी होता है और दोनों ही हड्डियों की सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं।  2013 के एक अध्ययन पता चला कि तिल के बीज खाने से घुटनों का दर्द दूर हो जाता है।

9. शकरकंद

  • एक बड़े शकरकंद में 68 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। शकरकंद में पोटेशियम और विटामिन ए और सी भी होता हैं।
  • विटामिन ए एक महत्वपूर्ण एंटीऑक्सिडेंट है जिससे देखने क्षमता बनी रहती है। कैंसर की रोकथाम को बढ़ावा मिलता है। शकरकंद प्राकृतिक रूप से वसा और कैलोरी कम होती हैं।

10. सरसों और सरसों का साग

  • एक कप सरसों के साग में 84 मिलीग्राम कैल्शियम होता है, और वे अन्य विटामिन और खनिजों से समृद्ध होते हैं।
  • कच्चे सरसों का साग भी पोषक तत्वों का एक महत्वपूर्ण स्रोत है, और इनमें प्रति कप में 64 मिलीग्राम कैल्शियम होता है।

11. संतरे और संतरे का रस

  • एक बड़े संतरे में 74 मिलीग्राम कैल्शियम होता है, जबकि एक गिलास संतरे के रस में 300 मिलीग्राम Calcium होता है।

और पढ़ें:कैसे काम करती है ‘हर्ड इम्युनिटी’

आपको Calcium rich foods in India | कैल्शियम की कमी के लक्षण यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और
Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Show 3 Comments

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *