22 C
New York
Wednesday, June 16, 2021

भारत में covid-19 के नए लक्षण | भारत में कोरोना के कुछ नए लक्षण

भारत में covid-19 के नए लक्षण | कोरोना 1.0 और कोरोना 2.0 के लक्षणों में अंतर | बच्चो में covid-19 के लक्षण | covid-19 कैसे फैलता है | भारत में कोरोना के कुछ नए लक्षण

भारत में रोज के कोरोना के लगभग एक लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। 2020 के कोरोना से 2021 में कोरोना अधिक खतरनाक है। भारत में तो बहुत बुरे हालात हो रहे हैं। रोजाना कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं और साथ मृत्यु का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। इस बीच देश में अचानक एक तरफ वेल्टीनेटर बेड और ऑक्सीजन की मांग बड़ गई है और दूसरी तरफ रेमडिसिविर इंजेक्शन की मांग बढ़ गई है।
देश में अस्पताल कोरोना के मरीजों से भरे हुए हैं, अस्पतालों में मरीजों को बेड के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। ऑक्सीजन की खपत रोज बढ़ रही है और प्रतिदिन पांच से छह फीसदी की मांग में भी बढोतरी हो रही है।

और पढ़ें: – हेयर ट्रांसप्लांट के बाद क्या करे?

और पढ़ें: – क्या रेमडेसिवीर इंजेक्शन कोरोना का इलाज करता है?

भारत में covid-19 के नए लक्षण

  • भारत में covid-19 के नए लक्षण बढ़ते जा रहे हैं इनकी लिस्ट लंबी होती जा रही है। इस कोरोना के ऐसे लक्षण होते हैं जिनको लोग नोर्मल समझते हैं। covid-19 में कोरोना मरीजों के लक्षण समान भी नही दिख रहे हैं किसी बुखार होता है किसी को बुखार नही होता है।
  • किसी को डायरिया हो रहा है। जिससे लोगो को पता भी नहीं चलता है। किसी की आवाज में कर्कश स्वर हो जाता है यह भी कोरोना का लक्षण है। हम आपको बताते हैं भारत में covid-19 के नए लक्षण जिनमे से आपको होता है तो समय पर ही संभल जाए।

आइए जानते हैं भारत में covid-19 के नए लक्षण

भारत में कोरोना के कुछ नए लक्षण

  • तेज़ बुखार – अगर बुखार चढ़ता है और उतर जाता है और तीन दिन से ज्यादा हो गए तो कोरोना के लक्षण है लेकिन कुछ लोगो को पहले बुखार आता है कुछ को हल्का सा बुखार आता है।
  • गले में खराश, आवाज में बदलाव – कई बार सर्दी-जुकाम के कारण आवाज में बदलाव हो जाता है, लेकिन इन दिनों में बिना सर्दी जुकाम के आपकी आवाज बदल जाए तो यह कोरोना लक्षण है नजरंदाज नहीं करे।
  • आंखो में समस्या – आंखो में पानी आना, धुंधला दिखाई दे, आंखों में लालपन के अलावा, सूजन की शिकायत हो सकती है।
  • पेट की समस्या – कोरोना होने पर पेट में दर्द हाजमा खराब,डायरिया के साथ उल्टी आना, भूख नही लगना हो सकती है।
  • जोड़ो में दर्द, कमजोरी आना, मासपेशियों में दर्द होना, आंखो के पानी आना, धुंधला दिखना, जुकाम, सिर में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, शरीर के दर्द, दस्त लगना, खाने में स्वाद नहीं आना, जीभ पर धब्बे और सूजन , स्किन पर लालिमा , स्किन पर जलन , पाँवों के तलवों में जलन , पैरों के तलवों में सूजन , स्किन एलर्जी , उल्टी दस्त , अपच , पेट में दर्द , बहती हुई नाक , सुखी खांसी। अगर कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत कोरोना टेस्ट कराए नही तो ज्यादा समय होने पर यह बढ़ जाएगा और फेफड़ों में पहुंच जाएगा जिससे समस्या गंभीर हो सकती है।
  • कोरोना की रिपोर्ट आने में समय लग रहा है तो लापरवाही नहीं करे अगर आपको कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं तो। अपने आपको घर में ही क्वारंटाइन करे। अगर क्वारंटाइन नही करोगे और लोगो के बीच में घूमते रहोगे तो और लोगो को भी खतरे में डाल सकते हो इसीलिए कृपया नजरंदाज नहीं करे।
  • जो लोग घर में क्वारंटाइन हो रहे हैं उसे लगे की सांस में दिक्कत है, छाती में तेज दर्द हो रहा है, चौथे पांचवें दिन भी बुखार तेज हो रहा है, नाखून और होठ नीले हो रहे हैं तो तुरंत अस्पताल जाए।

बच्चो में covid-19 के लक्षण

  • सांस लेने में दिक्कत, हल्की खांसी, थकान, पेट में दर्द, दस्त ज्यादातर लक्षण समान ही है।

कोरोना 1.0 और कोरोना 2.0 के लक्षणों में अंतर

  • कोरोना 1.0 में लोगो में गले में खराश और खांसी की समस्या थी और कोरोना 2.0 में लोगो में पेट दर्द और हाजमा खराब होने की समस्या है।
  • कोरोना 1.0 में बिना सांस फूल बुखार आ रहा था और कोरोना 2.0 में डायरिया के साथ उल्टी की समस्या हो रही है।
  • पिछली बार बुखार के साथ बदन दर्द की समस्या थी और इस भूख नही लगना कमजोरी आना।
  • कोरोना 2.0 में ऑक्सीजन की समस्या हो रही है।
  • कोरोना 1.0 में सांस में दिक्कत और थकान की समस्या थी और इस बार आंख पानी आना और धुंधला दिखना।

covid-19 कैसे फैलता है

  • कोई covid-19 से संक्रमित व्यक्ति खांसता, छीकता है या सांस छोड़ता है तो उसके नाक या मुंह से निकली छोटी बूंदों से यह रोग दूसरे में फैल सकता है। ये बूंदें उस व्यक्ति के आस-पास की दूसरी चीजो पर भी गिर सकती है। दूसरा व्यक्ति उस सामान या सतह के संपर्क में आने के बाद अपने मुंह, नाक या आंख को छूने से भी कोविड-19 से संक्रमित हो सकता है। लोग संक्रमित व्यक्ति के खांसने या सांस छोड़ने से निकली बूंदों को सांस के जरिए अंदर लेने से भी संक्रमित हो सकते हैं। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि बीमार व्यक्ति से 3-6 फीट या 1-2 मीटर दूर रहा जाए।

ध्यान रखें

  • जिन लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है वह ये नही सोचे की उन्हे कोरोना नही होगा। वह भी मास्क इस्तेमाल करें। और सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य नियमों का पालन करें।
  • रोजाना गुनगुने पानी से गरारे करे। इस दौरान कुछ भी ठंडा और गर्म खाने से बचें। ध्यान रखें शरीर में पानी की कमी न होने पाए, इसलिए खुद को हाइड्रेट रखने के लिए पानी पीते रहें। काढ़ा का सेवन करे, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,043FansLike
2,811FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles