Benefits of Spirulina in Hindi | स्पिरुलिना | स्पिरुलिना में पोष्टिक गुण | स्पिरुलिना के फायदे | स्पिरुलिना का सेवन कैसे करें | Benefits of Spirulina in Hindi | स्पिरुलिना

स्पिरुलिना

  • स्पिरुलिना एक प्रकार का नीला-हरे रंग का बिल्कुल सूक्ष्म समुद्रीय पोधा होता है जिसे लोग आहार के रूप में ले सकते हैं।
  • लोग अधिक पोषण सामग्री और स्वास्थ्य लाभ के कारण स्पिरुलिना को एक सुपरफूड मानते हैं।
  • स्पिरुलिना में एंटीऑक्सिडेंट और सूजन से लड़ने वाले गुण होते हैं, साथ ही प्रतिरक्षा प्रणाली को विनियमित करने में मदद करने की क्षमता होती है।
  • स्पिरुलिना के सेवन के अनेक फायदे हैं।

और पढ़ें:– spirulina Farming

गर्भावस्था के आठवें महीने में देखभाल

और पढ़ें:– 7th Month Pregnancy Care in Hindi

स्पिरुलिना में पोष्टिक गुण

  • Spirulina प्रोटीन और विटामिन में उच्च है।
  • सूखे स्पिरुलिना के एक चम्मच या 7 ग्राम में पोष्टिक गुण
  • 20 कैलोरी
  • 4.02 ग्राम प्रोटीन
  • कार्बोहाइड्रेट का 1.67 ग्राम
  • वसा की 0.54 ग्राम
  • कैल्शियम की 8 मिलीग्राम (मिलीग्राम)
  • 2 मिलीग्राम आयरन
  • 14 मिलीग्राम मैग्नीशियम
  • 8 मिलीग्राम फॉस्फोरस
  • 95 मिलीग्राम पोटेशियम
  • 73 मिलीग्राम सोडियम
  • 0.7 मिलीग्राम विटामिन सी
  • इसमें थायमिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, फोलेट, और विटामिन बी -6, ए और के भी होते हैं।

स्पिरुलिना के सेवन के फायदे

1. वजन कम करता है

  • जो लोग वजन कम करना चाहते हैं वो अपना वजन कम कर सकते हैं यदि वे कम कैलोरी खाते हैं जो वे खाते हैं।
  • स्पिरुलिना एक उच्च पोषक तत्व, कम कैलोरी वाला भोजन है जिसमें पाउडर की थोड़ी मात्रा में बहुत अधिक पोषण होता है।
  • स्पिरुलिना के सेवन से पोषक तत्वों की कमी भी नहीं होती और वजन कम करने में मदद मिल सकती है।
  • वजन कम करने में सहायता कर सकता है।
  • जो लोग वजन कम करना चाहते हैं वे नियमित रूप से 3 महीने के लिए स्पाइरुलिना खाएंगे तो आपको अच्छा परिणाम मिलेगा।

2. मधुमेह का प्रबंधन

  • स्पिरुलिना का सेवन मधुमेह के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है।
  • लेकिन डॉक्टरों को इसकी सिफारिश करने से पहले अधिक शोध की आवश्यकता है।
  • स्पाइरुलिना सप्लीमेंट ने लोगों के रक्त शर्करा के स्तर को काफी कम कर दिया।
  • डायबिटीज टाइप 1 और 2. से ग्रस्त लोगों में हाई फास्टिंग ब्लड शुगर एक आम समस्या है,
  • इससे पता चलता है कि स्पाइरुलिना की खुराक से लोगों को डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

और पढ़ें:– 4th Month of Pregnancy in Hindi

और पढ़ें:–5 Month Pregnancy in Hindi

3. कोलेस्ट्रॉल कम करता है

  • स्पाइरुलिना का सेवन कुल कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है।
  • स्पिरुलिना अर्क लेने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है।
  • स्पिरुलिना खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और अच्छा कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है।
  • हर दिन 1 ग्राम स्पाइरुलिना लेने से कुल कोलेस्ट्रॉल 3 महीने बाद कम हो जाता है।

4. रक्तचाप को कम करता है

  • स्पिरुलिना कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है, और यह किसी व्यक्ति के रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।
  • 3 महीने तक नियमित रूप से स्पाइरुलिना खाने से लोगों का रक्तचाप कम हो जाता है
  • जब वे अधिक वजन वाले होते हैं और उच्च रक्तचाप होता है।

5. हृदय रोग की रोकथाम

  • उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल का स्तर दोनों ही हृदय रोग से जुड़े होते हैं।
  • स्पिरुलिना इन दोनों जोखिम कारकों को कम कर करता है, इसीलिए यह हृदय रोग को रोकने में मदद कर करता है

6. चयापचय को बढ़ाए

  • स्पाइरुलिना लेने से किसी व्यक्ति के चयापचय को बढ़ाने में मदद मिलती है।
  • एक उच्च चयापचय दर एक व्यक्ति को महसूस कर सकती है जैसे कि उनके पास अधिक ऊर्जा है।

7. एलर्जी के लक्षणों को कम करे

  • जब किसी व्यक्ति को पराग, धूल या पालतू जानवरों से एलर्जी होती है, तो उनकी नाक के अंदर सूजन आ सकती है।
  • इस प्रतिक्रिया को एलर्जिक राइनाइटिस कहा जाता है।
  • स्पिरुलिना एलर्जी से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।
  • स्पाइरुलिना एलर्जी राइनाइटिस के लक्षणों को कम करता है जैसे बहती नाक, छींक आना, खुजली, नाक के अंदर सूजन।

8.मानसिक स्वास्थ्य

  • स्पाइरुलिना ट्रिप्टोफैन का एक स्रोत है। ट्रिप्टोफैन एक एमिनो एसिड है जो सेरोटोनिन उत्पादन का समर्थन करता है।
  • सेरोटोनिन मानसिक स्वास्थ्य में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • स्पाइरुलिना मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों वाले लोग, जैसे अवसाद और चिंता, सेरोटोनिन के स्तर को कम करता हैं।

स्पिरुलिना के दुष्प्रभाव

  • एक अध्ययन पता चला है कि स्पिरुलिना ज्यादातर लोगों द्वारा अच्छी तरह से सहन किया गया है,
  • इसलिए कोई महत्वपूर्ण दुष्प्रभाव नहीं है।
  • स्पिरुलिना का सेवन करते से पहले डॉक्टर से जरूर जानकारी ले।

स्पिरुलिना का सेवन कैसे करें

  • लोग स्मूथी में स्पिरुलिना पाउडर मिला सकते हैं।
  • स्पिरुलिना पाउडर या टैबलेट के रूप में उपलब्ध है।

स्पिरुलिना पाउडर का सेवन कैसे करें

  • स्पिरुलिना को स्मूदी में डाले जिससे हरा रंग हो जाता है।
  • सलाद या सूप में स्पिरुलिना पाउडर छिड़कें।
  • फल या सब्जी के रस में मिलाकर सेवन करें।
  • लोग टैबलेट के रूप में स्पाइरुलिना ले सकते हैं।
  • सूखे स्पिरुलिना को स्वास्थ्य खाद्य भंडार या ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते हैं।
  • Spirulina गोलियाँ स्वास्थ्य खाद्य भंडार, दवा की दुकानों और ऑनलाइन में भी उपलब्ध हैं।

आपको Benefits of Spirulina in Hindi | स्पिरुलिना कि यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और
Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *