Benefits of spinach for weight loss | Protein in spinach in Hindi | पालक के फायदे व नुकसान | Spinach benefits and side effects in Hindi | Benefits of spinach juice | Benefits of spinach for weight loss

हरी पत्तेदार सब्जी खाने की सलाह हर डॉक्टर के द्वारा दी जाती है. हरी सब्जियों में सभी पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में होते है. हरी सब्जियों के नाम पर सबसे पहले पालक को याद किया जाता है. पालक स्वाद के अलावा स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा होती है. पालक सबसे अधिक ठंड के मौसम में आती है, और ठण्ड में इसे खाने के फायदे भी बहुत है. वैसे आजकल 12 महीने सभी सब्जियां मिल जाती है, लेकिन बरसात में आने वाली पालक में मिट्टी व कीटाणु बहुत होते है, इसलिए इसे इस मौसम में नहीं खाना चाहिए |

आओ चलो Benefits of spinach for weight loss | Protein in spinach in Hindi के बारे में विस्तार से चर्चा करते है |

पालक (Spinach)

जब भी हम हरी सब्जियों की बात करते हैं, तो पालक का नाम जरूर लेते हैं। इसे अंग्रेजी में स्पिनच (spinach) भी कहा जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम स्पिनैसिया ओलेरासिया (Spinaciaoleracia) है। पालक में 91% पानी होता है।इसमें कई लाभकारी तत्व पाए जाते हैं। यह हमारे शरीर के लिए बहुत अच्छा पोषक तत्व माना जाता है। अगर हम नियमित रूप से पालक खाते हैं तो हम खुद को बीमारियों से बचा सकते हैं। पालक को किसी भी रूप में खाया जा सकता है। इसे कच्चा भी खाया जा सकता है और सब्जी, सूप, सलाद,रस आदि बनाकर भी खाया जा सकता है। यह भारत के लगभग सभी प्रांतों में पाया जाता है। इसका पौधा लगभग 1-1.5 फीट लंबा होता है। इसकी पत्तियाँ चिकनी व मोटी होती हैं। यह सर्दियों में अधिक पैदा होता है। पालक की उत्पत्ति मध्य पूर्व (middle East) फारस (Persia) या आधुनिक ईरान (modern Iran) में हुई हैं।

पोषक तत्व (Nutrients)

पालक में विटामिन ए(vitamin A),विटामिन बी2 और बी6 (vitamin B2 & B6),विटामिन के (vitamin K), विटामिन सी (vitamin C), विटामिन ई (vitamin E), मैंगनीज (manganese),मैग्नीशियम (magnesium), लोहा (Iron), कैल्शियम (calcium), प्रोटीन (Protein),सोडियम ( sodium),फोलिक एसिड( folic acid) आदि पायl जाताहै।

पालक के एक कप में (100 ग्राम) :

  • 91% पानी
  • 7 कैलोरी
  • 0.86 प्रोटीन
  • 30 मिलीग्राम कैल्शियम
  • 0.81 ग्राम आयरन
  •  24 मिलीग्राम मैग्नीशियम
  • 167 mg पोटेशियम
  •  58 माइक्रोग्राम फोलेट

पालक के प्रकार(Types of Spinach)

  • लाल पालक (Red Spinach) : लोकप्रियता में बढ़ते हुए,लाल पालक के पत्ते बीच में से लाल होने के साथ-साथ गोल, मोटे और समृद्ध हरे होते है। यह निविदा और बहुत स्वादिष्ट होते हैं। इसका स्वाद मीठा और रसीला होता है।
  • छोटा पालक (Baby spoon spinach) : यह गहरे हरे रंग का होता है। छोटा पालक एक सेवॉय प्रकार का पालक है, और जैसा कि इसके नाम से पता चलता है कि यह नियमित सेवॉय से आकार में छोटा होता है। यह खस्ता और मोटl होता है और बड़ी किस्म की तुलना में मीठा भी होता है। इसके छोटे तनो को भी को खlया जlता हैं।
  • चिकना या चपटा पत्ता पालक (smooth or flat leaf spinach) : इसमें चौड़ी, सपाट, कुदाल के आकार के पत्ते होते हैं। चिकनी पत्ती वाले पालक सेवॉय या अर्ध सेवॉय की तुलना में आसानी से साफ हो जाते हैं। ये गुण इसे डिब्बाबंद और जमे हुए पालक के वाणिज्यिक उत्पादकों की पसंद बनाते हैं। साथ ही यह ताजा भी बेचा जाता है।
  • सेवॉय पालक (Savoy spinach) : इसमें गहरे हरे, कुरकुरे और घुंघराले पत्ते होते हैं। सेवॉय पालक की पत्तियां स्प्रिंगदार और कुरकुरी होती हैं।

पालक के स्वास्थ्य पर लाभ (Health benefits) :

  • पालक में विटामिन ए (vitamin A) भरपुर मात्रा में पाया जातl हैं,जो हमlरी आँखों की रोशनी के लिये बहुत फायदेमंद है।
  • इसमें फोलिक एसिड(folic acid) और कैल्शियम (calcium) पाया जlता हैं, जो गर्भवती महिलाओं के लिये काफ़ी फायदेमंद होता हैं।
  • इसमें आयरन (Iron) का अच्छा स्रोत है, जो हमlरे शरीरमें खून की कमी को दुर करतl है तथा हीमोग्लोबिन (Hemoglobin) को बढ़ाता हैं।रक्ताल्पता (Anemia) के रोगी के लिये पालक बहुत फायदेमंद मlनl गया हैं।
  • पालक मांसपेशियों (Muscles) को मजबूत बनाये रखने मे भीमदद करतl हैं।
  • इसमें बहुत कम कैलोरी (Calories) तथा बहुत कम वसा (Fat)  होता हैं,जो वजन को कम करने में मदद करतl हैं। इसमें फाइबर (Fiber) की भी अच्छी मात्रा होती है।
  • पालक दिल के दौरे (Heart attack) को रोकने और रक्तचाप (Blood pressure) को नियंत्रित करने में मदद करता है।
  • इसमें फ्लेवोनॉयड्स (Flavonoids ) होता है, जो प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) से बचाता है।
  • यह जिंक और मैग्नीशियम में समृद्ध है, जो शरीर को तनाव मुक्त रखता है और ऊर्जा प्रदान करता है।
  • पालक हमारे पाचन को भी संतुलित करता है और कब्ज से राहत देता है।
  • इसमें पालक में कैल्शियम (calcium) और विटामिन के (vitamin K) भी पाया जाता है जो हमारी हड्डियों को मजबूत बनाता है।
  • पालक में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidants) पाए जाते हैं। पालक खाने से संक्रमण (infection) का खतरा कम होता है और हम जल्दीसेबीमारनहीं होते हैं।
  • कच्चे पालक के पत्तों को चबाने से पायरिया की समस्या दूर हो जाति है।
  • जिनको पेशाब खुलकर नहीं होता हैं या जलन होती है,जिस के कlरण आप बहुत परेशlन हो तो पालक को कुटकर रस निकlल कर पिए। यह पेशाब की जलन को कम करता है और आपको पेशाब खुलकर हो जाएगा।
मोटापा कम करने के लिए पालक

मोटापा कम करने के लिए पालक (Benefits of spinach for weight loss)

  • हम देखते रहते हैं कि हमारे सेलेब्रिटीज और मॉडल्स मैगजीन और टीवी में हमें एकदम फिट दिखाई देते हैं, इनमें बिल्कुल भी अतिरिक्त फैट नहीं दिखता। इससे हर कोई भी उन की तरह स्लिम और फिट रहना चाहता है। इतना ही नहीं, स्लिम रहना केवल सौंदर्य के लिए ही नहीं बल्कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी ज़रूरी है। { Benefits of spinach for weight loss
  • पालक का जूस- 3 टेबल स्पून
  • अदरक का जूस- 1 टेबल स्पून
  • यह घरेलू औषधि वजन कम करने में शानदार है, खास तौर पर यदि इसे सही तरह और नियमित रूप से लिया जाये तो। इसके अलावा इसका इस्तेमाल करते समय हाई कैलोरी वाले खाने से दूर रहें और रोजाना 45 मिनट तक व्यायाम करें।
  • पालक के जूस में प्रोटीन और एंटी-ओक्सीडेंट्स की अधिकता होती है जिससे मैटाबोलिक रेट काफी हद तक बढ़ती है और शरीर का वजन जल्दी कम करने में मदद मिलती है।
  • अदरक के जूस में पावरफुल एंजाइम्स होते हैं जो ज़्यादा फैट को अवशोषित कर कोशिकाओं को अक्षम कर देते हैं, और इससे वजन कम होता है।

और पढ़ें:- प्रोटीन भोजन (Protein Rich Food)

पालक के जूस के फायदे (Spinach juice)

  • इसमें पोषक तत्वों की एक विशाल सरणी होती है जो मानव शरीर को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है।
  • रोजाना पालक का जूस पीने से क्रोनिक कब्ज(Chronic constipation), एसिड रिफ्लक्स (Acidreflux) और अधिकांश पाचन समस्याओं को ठीक किया जा सकता है।
  • पालक का रस एक हरे वर्णक में अत्यधिक समृद्ध है जिसे क्लोरोफिल (Chlorophyll) कहा जाता है। कई वैज्ञानिक अध्ययनों से यह पता चला है कि यह शरीर में कैंसर को रोकने में मदद करता है।
  • जो लोग अस्थमा और फेफड़ों की बीमारी से पीड़ित हैं वे इसे नियमित रूप से पी सकते हैं। इसमें पाया जाने वाला बीटा कैरोटीन (Beta carotene) फेफड़ों के कार्य में सुधार करने में मदद करता है और भविष्य में सांस लेने की समस्याओं के जोखिम को कम करता है।
  • इस रस के लाभों का आनंद लेने के लिए इसे दैनिक आधार पर ताजा बनाया जाना चाहिए।
  • अधिकांश ग्रीन ड्रिंक की तरह पालक का रस आवश्यक खनिजों और विटामिनों (vitamins and minerals) का एक पावर हाउस प्रदान करता है जो कुछ ही समय में त्वचा को साफ करते हैं। दो से तीन दिनों तक इसे पीने के बाद आप देखेंगे कि त्वचा में प्राकृतिक चमक (natural glow) है।
  • पालक में अल्फा लिपोइक एसिड (Alpha lipoic acid) एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो मधुमेह (diabetes) वाले लोगों के लिए सहायक होता है क्योंकि यह इंसुलिन प्रतिरोध (insulin resistance) को कम करता है और प्राकृतिक रूप से रक्त शर्करा (sugar level) के स्तर को कम करता है।
  • पालक का रस शरीर द्वारा आसानी से अवशोषित (absorb) किया जाता है क्योंकि पेट को तंतुओं (fibres) को तोड़ने के लिए कड़ी मेहनत नहीं करनी पड़ती हैl
  • यदि आप माइग्रेन(migraine) और सिरदर्द (headaches) से पीड़ित हैं, तोपालक का रस आपके लिए अच्छा है।

कच्चा पालक बनाम पका हुआ पालक (Raw spinach vs Cooked Spinach)

कच्चे पालक में सहायक एसिड( oxalic acid) होता है जो पालक सहित कई हरी पत्ती की सब्जी में पाया जाता है। ऑक्सालिक एसिड(oxalic acid) को ऑक्सालेट (oxalate) भी कहा जाता है। ऑक्सालिक एसिड(oxalic acid) आयरन और कैल्शियम(iron and calcium) के अवशोषण को रोकता है। यह खनिजों (minerals) के साथ भी बांधता है और पोषक तत्वों की कमी (nutrients deficiency) का कारण भी बनता है। जब कच्चे पालक को भोजन में जोड़ा जाता है तो कैल्शियम और ऑक्सालिक एसिड कैल्शियम ऑक्सालेट में बदल जाता है। (Calcium + oxalic acid = calcium oxalate). 80%  किडनी स्ट्रोम्सकी समस्या कैल्शियम ऑक्सालेट की वजह से होती है।

पालक को भाप(steaming) देने और उबालने(boiling) से ऑक्सालिक एसिड ( oxalic acid) की मात्रा 60% तक कम हो सकती है। जब आप पका हुआ पालक खाते हैं, तो आपके शरीर को विटामिन ए (vitamin A), विटामिन ई (vitamin E)), कैल्शियम (calcium), लोहा (iron), प्रोटीन (protein), और फाइबर (fiber) की उच्च मात्रा मिलेगी और बीटा-कैरोटीन (beta-carotene) और ल्यूटिन (lute in) की जैव उपलब्धता भी खाना पकाने के बाद अधिक हो जाती है। लेकिन खाना पकाने से विटामिन बी(vitamin B) और विटामिन सी(vitamin C) जैसे पानी में घुलनशील विटामिन नष्ट हो सकते हैं।

त्वरित पकाने की विधि का उपयोग करें जैसे किस्टर्लफ्राइंग(stir frying) या ब्लांचिंग (blanching)। ब्लांचिंग सबसे अच्छी विधि है जो माइक्रो को मारती है, रंग को चमकlती, और विटामिन की मंदता को कम करने में मदद करती है। याद रखें, पोषक तत्वों की उपलब्धता इस बात पर भी निर्भर करती है कि आप अपनी सब्जियों को कैसे पकाते हैं।

तो निष्कर्ष यह है कि, पका हुआ पालक वास्तव में कच्चे पालक की तुलना में स्वास्थ्यप्रद है। पका हुए पालक के माध्यम से पोषक तत्व शरीर में अधिक आसानी से अवशोषित होते हैं।

सुझाव: अपने पके हुए पालक में नींबू के रस को मिलाने से आयरन का अवशोषण बढ़ेगा।

पालक के नुकसान

  1. केवल एक कप पालक से शरीर को 6ग्राम फाइबर मिल जातl है। हालांकि फाइबर पाचन के लिए आवश्यक है, परंतु हमारे पाचन तंत्र को इसकी आदत पड़ने में समय लगता है। एक बार में अधिक पालक का सेवन करने से पेट में दर्द या गैस हो सकती है।
  2. पालक को, तल कर, भुनकर या अधिक मिर्च मसालों के साथ नहीं खाना चाहिए।इससे इसके गुण नष्ट हो जाते हैं।
  3. पालक में उच्च मात्रा में प्यूरीन (Purine) पाया जाता है। जो शरीर में मेटाबॉलिज्म को बढ़l देती हैं। जिससे शरीर में यूरिक एसिड (uric acid) की मात्रा बढ़ जाती है। इसलिए गठिया जैसे रोगों से पीड़ित लोगों को पालक का सेवन नहीं करना चाहिए।
  4. इसमें बड़ी मात्रा में प्यूरिन (purine) पाया जाता है। इसमें कार्बोनिक(carbonic) क्षमता होति है। जब यह हमारे शरीरमेंबड़ी मात्रा में पहुंच जाता हैंतो यह यूरिक (uric) परिवर्तित हो जातl है।ऐसा करने से किडनी में कैल्शियम(calcium) की मात्रा बढ़ जाति है। उसके कारण किडनी में छोटे छोटे टुकड़े जमा हो जlते हैं।और यह गुर्दे (kidney) की पथरी में बदल जाता है।
  5. पालक तीक्ष्ण होता है, इसलिए यह अल्सर के रोगी को नुकसान पहुंचाता है। पालक उन लोगों द्वारा नहीं लिया जाना चाहिए जिन्हें आंतों में बहुत अधिक संक्रमण है, सूजन या अल्सर जैसी बीमारियां हैं।

पालक के रोचक तथ्य :

  • यह फारस (आधुनिक ईरान) का एक देशी पौधा है। इसे चीन में 7 वीं शताब्दी में पेश किया गया था।
  • यह शायद यूरोप में बारह वीं शताब्दी के आसपास लाया गया था और 1806 में अमेरिका को प्रदान किया गया था।
  • 26 मार्च राष्ट्रीय पालक दिवस (National spinach day) के रूप में मनाया जाता है।
  • क्रिस्टल सिटी में पालक उगाने वाला शहर टेक्सास द्वारा पोपिये (Popeye) को1937 में अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया गया।
  • “बर्ड्स आई” फ्रोजन पालक का विज्ञापन करने वाली पहली कंपनी थी।
  • अल्मा ने खुद को “दुनिया की पालक राजधानी” घोषित किया।
  • चीन वैश्विक उत्पादनका 85% के साथ दुनिया का सबसे बड़ा पालक उत्पादक हैं।
  • मध्यकालीन (Media eval)कलाकारों ने एक स्याही या पेंट के रूप में उपयोग करने के लिए पालक से हरे रंग का वर्णक निकाला।
  • यू.एस.डी.ए. (United State department of agriculture) के अनुसार 100 ग्राम पालक में 28.1 माइक्रोग्राम विटामिन सी (vitamin C) होता है जो दैनिक अनुशंसा का 34% हैं।
  • पालक को कई व्यंजनों के लिए एक घटक के रूप में जोड़ा जा सकता है और या तो पकाया जाता है या कच्चा परोसा जाता है।

आपको Benefits of spinach for weight loss | Protein in spinach in Hindi यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे
जिससे आपको ई- मेल के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Show 3 Comments

3 Comments

    • Pramod Jangid

      Thanks for Visiting and please share your friends.
      Please Subscribe Our blog.

  1. jyotirmaya

    Very helpful…… Many persons don’t know even I also

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *