6 Month Pregnancy in Hindi | छठे महीने में गर्भवती के शरीर में बदलाव | विकलांग बच्चा क्यों पैदा होता है | छठे महीने में बच्चे का शारीरिक विकास | 6 Month Pregnancy in Hindi | छठे महीने में गर्भवती के शरीर में बदलाव

प्रेग्नेंसी के छठे महीने में बच्चे का शारीरिक विकास

  • बच्चे का वजन हर महीने बढ़ता है, लंबाई बढ़ रही है।
  • इस महीने में बच्चे में फेट बढ़ना शुरू हो जाता है। छठे महीने से बच्चे का वजन बहुत जल्दी बढ़ता है।
  • सातवे महीने तक शिशु का वजन एक किलो तक हो जाता है।
  • छठे महीने से शिशु आंखे खोलने लग जाता है, पांचवे महीने तक बच्चा आंखे बंद रखता है।
  • पांचवे महीने से शिशु सुन सकता है उसे आप कुछ भी सुना सकता है।
  • लेकिन कभी भी ग़लत बाते नहीं सुने क्योंकि शिशु सब सुनता है जिसे आप सुनते है बोलते हैं।

और पढ़ें:– 4th Month of Pregnancy in Hindi

और पढ़ें:–5 Month Pregnancy in Hindi

छठे महीने में गर्भवती के शरीर में बदलाव

1. स्किन में खींचाव

  • छठे महीने से स्किन में खींचाव बहुत ज्यादा होने लगता है।
  • अगर आपका खीचाव मॉइश्चराइजर या नारियल तेल लगाने से चली जाती है तो वह नॉर्मल खीचाव है। घबराना नहीं चाहिए।

2. स्ट्रेच मार्क्स

  • स्ट्रेच मार्क्स शुरू डार्क रेड या हल्के ब्लैक कलर के हो सकते हैं। वो बाद में डिलिवरी के बाद स्किन के कलर के हो जाते हैं।

3. पेट बढ़ना

  • पेट का साइज बढ़ जाता है पेट का साइज नाभि तक पहुंच जाता है।

4. बच्चे की हलचल महसूस होगी

  • छठे महीने में बच्चे की हलचल अच्छे से महसूस होगी।

5. सांस लेने में दिक्कत

  • इस महीने से सांस लेने में दिक्कत कभी कभी होती है।
  • क्योंकि बच्चा पुश करता आपके लंग्स को। जब आप काम करते हैं तो सांस फूलने लगती है
  • इसीलिए आराम करते करते काम करे। अगर बिना काम करे है सांस फूलती है तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

6. पीठ में दर्द

  • पीठ में दर्द तो पहले भी होता है लेकिन छठे महीने से ज्यादा होने लगता है। क्योंकि शिशु का वजन बढ़ जाता है।

विकलांग बच्चा क्यों पैदा होता है

  • जब महिला पता चलता है कि वह प्रेग्नेंट है तो उसे और गर्भ में पल रहे शिशु का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान को गई छोटी से छोटी गलती भी शिशु के लिए खतरनाक हो सकती है।
  • गर्भ में पल रहा शिशु शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग पैदा हो सकता है।
  • आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिला कोन सी गलती करती है जिससे बच्चा विकलांग पैदा होता है।

1. शोर शराबे वाले माहौल में रहना

  • प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिलाएं शोर शराबे वाले माहौल में रहती है तो उसका असर गर्भ में पल रहे शिशु के कानो पर पड़ता है।
  • जिससे बच्चा बहरा या गूंगा पैदा हो सकता है। इसीलिए शोर शराबे वाले माहौल से दूर रहें।

2. पेन किलर

  • प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं को कितनी सारी दिक्कतों और परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
  • प्रेग्नेंसी के समय उनके कभी पैरो में दर्द होता है और कभी पीठ में कभी कमर में दर्द होता है।
  • इसी दर्द से राहत पाने के लिए गर्भवती महिला पेन किलर का सहारा लेती है।
  • यदि किसी प्रेग्नेंट महिला को बुखार हो जाता है तो वह paracetamol का सेवन करती है।
  • वह भूल जाती पेन किलर के सेवन से वह खुद राहत महसूस करेगी
  • लेकिन गर्भ पल रहे शिशु के लिए बहुत बडी मुसीबत खड़ी कर सकती है।
  • गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर की सलाह के बिना कोई पेन किलर नहीं लेनी चाहिए।
  • बिना डॉक्टर की सलाह के गर्भवती महिला पेन किलर का सेवन करती है
  • तो गर्भ में पल रहा शिशु शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग पैदा हो सकता है।

3. पेट पर दवाब पड़ना

  • अगर गर्भवती महिला भारी सामान उठाती है तो पेट पर दवाब पड़ता है।
  • पेट पर दवाब पड़ता है तो समझे उसके शिशु पर भी दवाब पड़ रहा है।
  • इसी वजह से गर्भ में पल रहा शिशु शारीरिक रूप से विकलांग पैदा हो सकता है।
  • इसीलिए गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान भारी सामान नहीं उठाना चाहिए और ध्यान रखना चाहिए
  • उनके पेट पर किसी भी तरह का दवाब नहीं पड़े।

4. तनाव

  • यदि गर्भवती महिला गर्भावस्था के दौरान तनाव में रहती है तो इसका सीधा असर गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है।
  • ऐसे में गर्भ में पल रहा शिशु मानसिक रूप से विकलांग पैदा हो सकता है।
  • इसीलिए गर्भवती महिलाओं तनाव नहीं लेना चाहिए।

मुनक्का और दूध के फायदे

आपको 6 Month Pregnancy in Hindi | छठे महीने में गर्भवती के शरीर में बदलाव यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और
Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Show 1 Comment

1 Comment

  1. health tips in urdu

    Thanks for sharing.I found a lot of interesting information here. A really good post, very thankful and hopeful that you will write many more posts like this one.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *