तीन महीने गर्भावस्था के लक्षण | 3 months pregnant stomach | गर्भावस्था के तीसरे महीने के बाद भ्रूण शारीरिक विकास | गर्भवती महिलाओं में बदलाव | तीन महीने गर्भावस्था के लक्षण

गर्भावस्था के तीसरे महीने के बाद भ्रूण शारीरिक विकास

  • इस समय भ्रूण की लंबाई ढाई इंच और वजन लगभग 28 ग्राम हो जाता है।
  • भ्रूण का दिल काम करना शुरू कर देता है।

और पढ़ें:– पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण, प्रेगनेंसी के लक्षण, प्रेगनेंसी के लक्षण इन फर्स्ट वीक

और पढ़ें:– 2 महीने गर्भावस्था के लक्षण | गर्भावस्था के दूसरे महीने में क्या खाए

गर्भवती महिलाओं में बदलाव क्या होते है ?

1. बहुत ज्यादा थकान होना

  • गर्भवती के शरीर में एक और नए शरीर का निर्माण होता है। इसीलिए गर्भवती महिलाओं को ज्यादा पोषक तत्वों की जरूरत पड़ती है।
  • फिर आपकी बॉडी ज्यादा ब्लड बनाती है इस कारण आपके ब्लड मे जो ब्लड शुगर लेवल है और जो आपका ब्लड प्रेशर है दोनों के लेवल में बहुत बदलाव आता है।
  • यानी कि ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर लेवल दोनों ऊपर नीचे होते रहते हैं।
  • ज्यादातर यही कारण होता है जिससे आपको थकान होती है।
  • इसके अलावा आपके शरीर में नए नए हार्मोन्स का निर्माण होने की वजह से भी थकान होती है।
  • आपको ध्यान इसका रखना है कि जब भी आपको थकान हो आराम जरूर करें। अपनी बॉडी को बिल्कुल स्ट्रेस नहीं दे।

2. कब्ज होना

  • गर्भवती महिलाओं के शरीर में प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन बहुत ज्यादा बनने के कारण आपके पाचन को धीमा कर देता है।
  • इसकी वजह से कब्ज की शिकायत होती है।
  • इससे बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पिए हो सके तो तेल मसाला, केफीन का सेवन कम करें।

3. पैरो में दर्द

  • गर्भवती महिलाओं के पैरो दर्द होने लगता है। इसका कारण है कि गर्भवती के शरीर के पोषक तत्वों को उसका बच्चा इस्तेमाल करता है।
  • इसकी वजह से बॉडी मे पोषक तत्वों की कमी हो जाती है।
  • जिसकी वजह से पैरो में दर्द होने लगता है।

4. बार बार पेशाब आना

  • बार बार पेशाब बढ़ते हुए गर्भाशय की वजह से भी आता है। जो आपके यूरिनरी ब्लैडर पर दवाब डालता है।

5. दांतो और मसूड़ों में खून आना

  • ये हार्मोन कि वजह से होता है वैसे तो यह सभी महिलाओं में नहीं होता है। लेकिन यह किसी महिला को होता है तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। अपने मुंह की सफाई का विशेष ध्यान रखें।

6. पीठ और पेट के निचले हिस्से में दर्द होना

  • गर्भवती के शरीर में भ्रूण का साइज बढ़ने के कारण पीठ और पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है।

7. स्वभाव में चिड चिडापन, सीने में जलन

  • बढ़े हुए हार्मोन की वजह से होता है ज्यादा हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।

8. बार बार भूख लगाना

  • गर्भवती महिलाओं को पहले की जगह ज्यादा मात्रा में पोषक तत्वों की जरूरत होती है इसीलिए बार बार भूख लगती है।
  • गर्भवती महिलाओं को जितनी बार भूख लगे उतनी बार ही खाना खाए और जो भी खाए हेल्थी खाए।
  • तेल मसाले वाली चीजें किसी भी तरह से नुकसान पहुंचाने वाली चीजें नहीं खाए।

9. पेट पर काली लकीर होना

  • किसी किसी गर्भवती के पेट पर काली लकीर बन जाती है जिसे लिनिया निग्रा कहा जाता है।
  • यह सभी के नहीं होती है। इससे कोई समस्या नहीं होती है। यह डिलिवरी के बाद गायब हो जाती है।

मुनक्का और दूध के फायदे

आपको तीन महीने गर्भावस्था के लक्षण | 3 months pregnant stomach यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे और दिए गए Bell Icon को जरूर दबाए
जिससे आपको ई- मेल और
Mobile Notification के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद।

Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *