12 Facts About Oranges Fruits , History of orange, benefits of orange for skin, benefits of orange peel, kinnow vs orange in hindi , संतरे के प्रकार, संतरे खाने के नुक़सान, असली संतरे की पहचान कैसे करें? संतरा की उत्पत्ति  Facts About Oranges Fruits

संतरा हमारे शरीर के लिए बहुत अच्छा है क्योंकि इसमें विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट के गुण पाये जाते है जो हमारे शरीर के बहुत ही जरूरी होता हैं यह हमारी त्वचा के लिए लाभदायक होता है चलो इसके बारे विस्तार से जानते हैं –

*Orange (संतरा) शब्द की उत्पत्ति

वैज्ञानिक नाम – साइट्रस साइनेंसिस

ऑरेंज को नारंगी भी बोला जाता है और नारंग शब्द का जन्म संस्कृत भाषा से हुआ था नारंग पूरे पेड़ को कहा गया ना की उसके फल को | जब भारत से नारंग के पेड़ अरेबिक ट्रेडर्स के द्वारा यूरोप में भेजे जाते थे तो अरबी लोग इसको नरंज बुलाने लगे और पर्सियन ट्रेडर्स नारंग जो कि यूरोप पहुंचने के बाद POMME D’ ORANGE के नाम से बोला गया जिसका मतलब होता है FRUIT OF ORANGE

TREE और जैसे जैसे यह शब्द आगे बड़ने लगा इस नाम का मतलब ही बदलने लगा उसके बाद ऑरेंज फ्रूट को डेनोट किया जाने लगा ना कि ऑरेंज ट्री को उसके बाद 1500 इस्वी में MIDDLE ENGLISH बोलने वाले लोगो ने इसे ORANGE बोलना शुरू कर दिया और उसके लगभग 100 साल बाद 1600 ईस्वी में ORANGE शब्द पहली बार COLOUR के लिए भी उपयोग होने लगा और आपको जानकर हैरानी होगी कि इस शब्द को सबसे पहले COLOUR के रूप में एक WILL (मरने से पहले की गई इच्छा ) पर  उपयोग किया गया जिसको हम आज आसानी से उपयोग करते हैं।

संतरा में पोषक तत्व (100gm) में

  • विटामिन सी – 116.1%
  • फाइबर – 12%
  • विटामिन बी1 – 7.3%
  • विटामिन B6 – 5%
  • पोटेशियम  – 6.7%
  • विटामिन  ए – 5.8%
  • कैल्शियम – 5.2%
  • कलोरीज – 3%

* संतरे के प्रकार

  1. नाभि वाले संतरे:- नाभि वाले संतरे में बीज बिल्कुल कम पाए जाते हैं और इसका छिलका आसानी से छीला जा सकता है।इसके अलावा इस संतरे में रस काफी पाया जाता है।
  2. वालेंसिया ऑरेंज :- वेलेंसिया संतरे की पहचान है कि वह फरवरी से लेकर अक्टूबर के महीने तक ही मिलते हैं|
  3. मोरो संतरे:- मोरों संतरे का छिलका बहुत पतला होता है और इसके अंदर का रंग लाल होता है।इस प्रकार के संतरे केवल जनवरी से लेकर अप्रैल तक ही मिलते हैं।

* संतरे की किस्में

  • स्वीट ऑरेंज
  • नेवेल ऑरेंज
  • वलेन्सिया ऑरेंज
  • सौर ऑरेंज
  • सिविल ऑरेंज
  • डाडई ऑरेंज
  • बर्गमाट ऑरेंज
  • ब्लड ऑरेंज
  • पर्षियन ऑरेंज
  • चिनोट्टो ऑरेंज

* संतरे खाने के नुक़सान

  • हृदय रोग वाले व्यक्तियों को संतरा ज्यादा नही खाना चाहिए। क्योंकि संतरे में सर्वाधिक पोटैशियम  होता है।यह पोटेशियम हृदय रोगियों के लिए बहुत घातक है ।
  • उन व्यक्तियो को संतरे का सेवन नहीं करना चाहिए जिनके गुर्दे सही ढंग से काम नही करते है।
  • संतरे के ज्यादा उपयोग से दस्त होने की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है।
  • डायबिटीज रोगियों को संतरे का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में नेचुरल शुगर पाई जाती है जिसके कारण शरीर में ग्लूकागाॅन का स्तर बढ़ सकता है जो डायबिटीज रोगियों के लिए लाभकारी नहीं है।
  • जो लोगसोचते हैं वजन घटाने के लिए संतरे का सहारा लेते हैं उन लोगों के लिए भी संतरा लाभदायक नहीं होता है क्योंकि इस फल में कार्बोहाइड्रेट काफी अधिक मात्रा में पाया जाता है जो वजन घटाता नहीं बल्कि बढाता और है।
  • संतरा दांतों के लिए भी हानिकारक हो सकता है क्योंकि इस फल में एसिड पाया जाता है, जो  दांतों की इनेमल  परत को हानि पहुंचाता है।

*असली संतरे की पहचान कैसे करें?

हम बाजार में संतरा लेने के लिए जाते हैं किन्तु खाने के बाद पता चलता है कि संतरा नहीं कुछ और ही ले आये और वो होता है कीनू। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि कीनू, संतरे जैसा ही दिखता है खाने के बाद ही पता चल पाता है कि ये संतरा नहीं है  संतरा और कीनू सिर्फ देखने में एक जैसे नहीं होते बल्कि दोनों के Nutritional benefit भी एक जैसे ही होते हैं। कीनू का रंग, संतरे से डार्क होता है. वहीं संतरे का रंग केसरिया या लाइट ऑरेंज कलर का होता है.

* संतरा अमूमन छोटे आकार का होता है वहीं कीनू संतरे से बड़ा होता है।

* संतरे का छिलका हल्का और पतला होता है जिसे आसानी से छील सकते हैं। वहीं कीनू का छिलका मोटा होता है।

* कीनू की ऊपरी सतह बिल्‍कुल एक समान परत की यानी फिसलन वाली होती है जबकि संतरा की ऊपरी सतह ऊबड़-खाबड़ होती है.

*  वैसे तो ये दोनों फल देखने में एक जैसे होते हैं और इनके स्वाद भी लगभग एक जैसे ही होते हैं। कीनू संतरे की अपेक्षा ज्यादा रसीला और खट्टा होता है जबकि संतरे में थोड़ा मीठापन होता है.

* कीनू संतरे की तुलना में सस्ता होता है।

*संतरा खाने का सबसे बेहतरीन समय

संतरा खाने में तो बहुत अच्छा है लेकिन इसे हर समय खाना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। संतरे को सुबह जल्दी और रात में न खाएं। कोशिश करें संतरे को हमेशा दिन में खाएं। खाना खाने के तुरंत बाद संतरा न खाये।

खाने से एक घंटा पहले या खाने के एक घंटे बाद ही संतरे का सेवन करना चाहिए।संतरे आपके लिए बहुत अच्छे होते हैं, लेकिन आपको इनका सीमित मात्रा में आनंद लेना चाहिए। संतरे का अधिक सेवन अधिक फाइबर सामग्री पाचन को प्रभावित कर सकता है जिससे पेट की ऐंठन और दस्त जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।

*Fact of Orange

Facts About Oranges Fruits

  1. आलू चिप्स के पैकेट में 154 ग्राम कैलोरी होती है जो कि एक संतरे से दुगनी होती है लिहाजा जितना लाभदायक संतरा है उतना चिप्स नहीं तो अगली बार चिप्स खाने की बजाय संतरा खाने के बारे में जरूर सोचे।
  2. दुनिया में पहले ऑरेंज फ्रूट आया उस पर ही ऑरेंज कलर का नाम रखा गया
  3. संतरे का पेड़ 30 फीट तक और उसकी उम्र 100 साल होती हैं।
  4. चाकलेट और वेनिला के बाद orange फ्लेवर सबसे ज्यादा पसंद किया जाता हैं।
  5. ऑरेंज जूस अमेरिका मे मोस्ट पॉपुलर ज्यूस में से एक है।
  6. कैलिफोर्निया में नहाते वक़्त संतरे खाना गैरकानूनी हैं क्योंकि संतरे का रस और तेल अक्सर स्नान में जोड़ा जाता है जिससे विस्फोट होने का खतरा रहता है।
  7. दुनिया में 85% संतरे का उपयोग सिर्फ रस बनाने के लिए किया जाता है ।
  8. संतरे का लगभग 600 से अधिक प्रजाति आज भी मौजूद है और ज्यादातर संतरे नारंगी नहीं बल्कि हरे रंग के होते है।
  9. स्विटजरलैंड में संतरे मलाई (WHIPPED CREAM ) और चीनी के साथ मिलाकर खाया जाता है ।
  10. संतरे का उत्पादन सबसे ज्यादा अमेरिका के कैलीफोर्निया और फ्लोरिडा में होता हैं।
  11. संतरे की मिठाई का पहला उल्लेख 314 ईसा पूर्व चीनी साहित्य में हुआ।
  12. भारत के नागपुर में संतरे सबसे ज्यादा का उत्पादन होता हैं।
  13. स्पेन में करीब 35,000,000 से भी अधिक संतरे के पेड़ हैं |

आपको 12 Facts About Oranges Fruits | kinnow vs orange यह जानकारी कैसी लगी कमेंट बॉक्स ने लिखकर जरूर बताए | कोई जानकारी रह गई और आपके कोई प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में लिखें हम जल्द से जल्द आपको जवाब देने की कोशिश करेंगे।
अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगे और आपको ऐसी जानकारी पड़ना और अपनी नॉलेज को बढ़ाना चाहते हो तो दिए गए न्यूज़लैटर बॉक्स में अपनी डिटेल भरकर सब्सक्राइब करे
जिससे आपको ई- मेल के जरिए समय – समय नई जानकारी के लिए अपडेट कर सके धन्यवाद

Show 3 Comments

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *